योगी स्वामी वीरेन्द्रानंद ने की मेलाधिकारी दीपक रावत से मुलाकात,भू-खंड की मांग

 

हरिद्वार। सत्कर्मा मिशन के संस्थापक व जूना अखाड़े के महंत हिमालयन योगी स्वामी वीरेन्द्रानंद ने कुम्भ मेले की व्यवस्थाओ तथा मिशन के लिए भूखंड आवंटित किये जाने हेतू मेलाधिकारी दीपक रावत से मुलाकात की। स्वामी वीरेन्द्रानंद ने मेलाधिकारी को सत्कर्मा मिशन द्वारा किए जा रहे जनहित के कार्यो की जानकारी देते हुए बताया कि कुम्भ मेला 2021 में उनकी संस्था की ओर से 200वेड का कोविड हास्पिटल बनाए जाने की योजना है। जिसमें कोविड रोगियों के अतिरिक्त सामान्य रोगियों हेतु ओपीडी भी चलायी जायेगी। बताते चले कि स्वामी वीरेंन्द्रानंद महाराज द्वारा उत्तराखंड के सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों पिथौरागढ़,धारचूला,चम्पावत आदि में एशियन पब्लिक स्कूलों की श्रृंखला के माध्यम से निर्धन बच्चों को निःशुल्क शिक्षा प्रदान की जा रही है। कोविड संक्रमण काल में भी मिशन के माध्यम से पलायन कर आ रहे प्रवासियों के लिए भोजन,आवास व उनके घरो तक पहुचाने की व्यवस्था की गयी थी।        स्वामी वीरेन्द्रानंद ने मेलाधिकारी दीपक रावत से कुम्भ मेले के दौरान मिशन द्वारा सचालित की जाने वाले अन्य गतिविधियों जिसमें उत्तराखंड की संस्कृति,रीति-रिवाज,उत्सव आदि प्रदर्शित किए जाने की योजनाओं की जानकारी दी। श्री रावत ने स्वामी को इसके लिए पर्याप्त भूखंड आवंटित किए जाने का आश्वासन दिया है। स्वामी जी ने मेलाधिकारी को मिशन की ओर से प्रतीक चिन्ह भी भंेट किए। स्वामी वीरेन्द्रानंद ने जूना अखाड़े के अन्र्तराष्ट्रीय संरक्षक व अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री हरिगिरि जी से मुलाकात की तथा मेले के दौरान की जाने वाली गतिविधियों व कार्यक्रमों के सन्दर्भ में चर्चा कर दिशा-निर्देश प्राप्त किया।