अखाड़ा परिषद अध्यक्ष श्रीमहंत नरेद्र गिरी को सिंधु नदी का जल किया भेंट

 

हरिद्वार। शदाणी दरबार के पीठाधीश्वर डा.युधिष्ठिर लाल की ओर से पाकिस्तान से लाए गए सिंधु नदी के जल को दरबार के सेवादा पंचायती श्री निरंजनी अखाड़ा लेकर पहुंचे। यहां उन्होंने सिंधु नदी का जल अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेद्र गिरी और मां मनसा देवी ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्रपुरी को भेंट किया। धर्म के प्रचार-प्रसार करने पर श्री महंतों ने उन्हें साधुवाद दिया। गुरुवार को शदाणी दरबार की ओर से पहुंचे सेवादारों ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि और मां मनसा देवी ट्रस्ट के अध्यक्ष व निरंजनी अखाड़ा के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज को पाक से लाया गया सिंधु का जल भेंट किया। दरबार के सेवादारों ने बताया कि प्राचीन वेद मंदिर माथेलो की मिट्टी, हिंद व सिंध की 312 वर्ष प्राचीन शदाणी दरबार तीर्थ की ओर से सिंध पाकिस्तान से लाया गया पवित्र सिंधू नदी का जल और प्राचीन सरस्वती तट पर स्थिति वेद मंदिर माथेलो जहां शदाणी दरबार के प्रथम संत शदाराम साहिब ने तपस्या कर धूणीश्वर महादेव की स्थापना की थी। वहां की मिट्टी अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज व श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज को कुंभ मेला पूजन के लिए भेंट की गई। शदाणी दरबार सेवा मडंल के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष उदय लाल शदाणी ने अखाड़ा परिषद अध्यक्ष को शदाणी दरबार की ओर से 42 वर्षो से पाक स्थित हिंदु मंदिरों के लिए जा रही यात्रा के लिए बारे में भी अवगत कराया। शदाणी दरबार द्वारा पाक में शक्ति पीठ माता हिंगलाज के बारे में भी जानकारी दी। अखाड़ा परिषद अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज ने शदाणी द्वारा पाक में हिन्दू मठ मंदिरों की सेवा के लिए शदाणी दरबार की प्रशंसा की। इस अवसर पर शदाणी दरबार के सेवादार अमर शदाणी, सुमित चावला, अंकुर बत्रा आदि उपस्थित रहे।