शिकायतों को शीर्ष प्राथमिकता में रखते हुये इनका निराकरण जल्द से जल्द करे-रामन

 हरिद्वार। गढ़वाल मण्डलायुक्त रविनाथ रामन ने मंगलवार को रोशनाबाद स्थित क्लेक्टेªट सभागार मंे विकास कार्यों की वित्तीय एवं भौतिक प्रगति, मुख्यमंत्री घोषणा, स्वरोजगार योजना, सी0एम0 हेल्पलाइन आदि की प्रगति की समीक्षा की। मण्डलायुक्त ने जिला योजना, रोजगार कार्यक्रम, जन-समस्यायें तथा विधान सभा क्षेत्रों में विभिन्न विभागों के महत्वपूर्ण विकास कार्यों एवं मुख्यमंत्री घोषणायें आदि की वित्तीय एवं भौतिक प्रगति की समीक्षा की। लोकनिर्माण ,नलकूप सहित कई विभागों की कार्यो की समीक्षा करते हुए मण्डलायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखा जाये। उन्होने भूमिगत केबिल बिछाने का कायों की जानकारी लेते हुए निर्देश दिये कि यह सीधे-सीधे सर्विसेज से जुड़ा कार्य है, इसे प्राथमिकता से यथाशीघ्र पूर्ण करिये। मण्डलायुक्त ने खााद्य पूर्ति अधिकारी से पूछा कि खाद्यान्न समय से न मिलने के कितने मामले आये हैं, इस पर अधिकारियों ने बताया कि ऐसी कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई है। पंचायत राज विभाग ने बताया कि ज्यादातर सड़क,नाली आदि की मांग रहती है, इस समय कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई है। सी0एम0 हेल्पलाइन में दर्ज शिकायतों का उल्लेख करते हुये रविनाथ रमन ने कहा कि इसमें अधिकतर शिकायतें राजस्व विभाग, नगर निगम तथा शिक्षा विभाग से जुड़ी हुई हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे इन शिकायतों को शीर्ष प्राथमिकता में रखते हुये इनका निराकरण जल्द से जल्द करें। मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना के सम्बन्ध में अधिकारियों ने मण्डलायुक्त को बताया कि हमारा लक्ष्य 200 है, जिसके सापेक्ष बैंक से 70 के आवेदन स्वीकृत हुये हैं। मण्डलायुक्त ने निर्देश देते हुये कहा कि इसमें और तेजी लाते हुये लक्ष्य की यथाशीघ्र प्राप्ति करना सुनिश्चित करें। पर्यटन विभाग की होम स्टे योजना में अधिकारियों ने बताया कि कुल 21 में से 08 का निस्तारण होना बाकी है। मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि इनका निस्तारण त्वरित गति से करें। मण्डलायुक्त ने अधिकारियों से मुख्यमंत्री घोषणा के सम्बन्ध में पूछा तो पी0डब्ल्यू0डी0 के अधिकरियों ने कहा कि हमारी अधिकांश घोषणायें लगभग पूरी होने को हैं। सिंचाई में 21 में से चार पूरी हो चुकी हैं, 17 में काम चल रहा है तथा आस्था पथ दिसम्बर तक पूरा हो जायेगा। बाकी मार्च तक पूरी हो जायेंगी। शिक्षा में चार पूरी हो चुकी हैं तथा 14 लगभग पूरी होने को हैं। इस पर मण्डलायुक्त ने कहा कि पैसा जारी होने पर भी कार्य में प्रगति नहीं है, यह उचित नहीं है। इस पर मुख्य शिक्षा अधिकारी ने बताया कि कई जगह हमने कार्य शुरू करा दिये हंै। नलकूप निगम के अधिकारियों ने बताया कि खानपुर में चार नलकूपों का निर्माण करना है, जो जनवरी तक पूरे हो जायेंगे। ग्राम्य विकास विभाग के अधिकारियों ने बताया कि फरवरी तक कार्य पूरे हो जायेंगे। बैठक में झबरेड़ा नाले से अतिक्रमण हटाने के सम्बन्ध में भी चर्चा हुई। जल जीवन मिशन योजना की समीक्षा करते हुये मण्डलायुक्त ने मुख्य शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये कि उनकी व्यक्तिगत जिम्मेदारी है कि वे स्कूलों में गुणवत्तायुक्त पानी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इससे पूर्व कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचने पर जिलाधिकारी ने पुष्पगुच्छ भेंटकर मण्डलायुक्त का स्वागत किया गया। बैठक में मुख्य नगर अधिकारी जय भारत सिंह, अपर जिलाधिकारी के0के0 मिश्रा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी एस0के0 झा, डी0एफ0ओ0 नीरज कुमार, संयुक्त मजिस्ट्रेट सुश्री नमामि बंसल, डिप्टी मजिस्ट्रेट शैलेन्द्र सिंह नेगी, जिला विकास अधिकारी पुष्पेन्द्र सिंह चैहान, उद्यान अधिकारी  नरेन्द्र यादव, जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती भारती तिवारी, पर्यटन अधिकारी श्रीमती सीमा नौटियाल सहित पेयजल, जल संस्थान, पी0डब्ल्यू0डी0 आदि के अभियन्ता एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।