कुम्भ मेलाधिकारी ने की व्यापार संगठनो,होटल एसो,धर्मशाला प्रतिनिधियों के साथ बैठक


 सफल मेला बनाने के लिए सभी से लिए सुझाव


हरिद्वार। कुम्भ मेलाधिकारी दीपक रावत मेला ने बुधवार को कुम्भ के सफल आयोजन के सम्बन्ध में व्यापार मण्डल, होटल एसोसिएशन, धर्मशालाओं आदि के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। सीसीआर में आयोजित बैठक में मेलाधिकारी ने कुम्भ क्षेत्र को दृष्टिगत रखते हुये स्थायी व अस्थायी निर्माण कार्यों के सम्बन्ध में बताया कि स्थायी व अस्थायी निर्माण कार्य अब लगभग पूर्ण होने की ओर हैं। देश व पूरा विश्व इस समय कोविड-19 की महामारी से जूझ रहा है, जिसे देखते हुये हमें महाकुम्भ के आयोजन की रणनीति तैयार करनी है। बैठक में होटल एसोसिएशन के आशुतोष कुमार ने सुझाव दिया कि कोविड-19 के कारण टेण्ट आदि की सीमित मात्रा में व्यवस्था होने के कारण कुम्भ मेले का लाभ हरिद्वार की जनता, होटल, धर्मशालाओं आदि को मिलना चाहिये। उन्होंने कहा कि तीर्थ यात्रियों को हरिद्वार की अर्थव्यवस्था से जुड़ना चाहिये। धर्मशाला संध की ओर से विकास तिवारी ने सुझाव दिया कि प्रचार-प्रसार का कार्य जनवरी में प्रारम्भ किया जाना चाहिये ताकि देश की जनता मुख्य पर्वों से पहले ही स्नान करके जा सकती है, जिससे भीड़ नियंत्रित रहेगी। भाजपा पार्षद अनिरूद्ध भाटी ने सुझाव दिया कि धर्मशालाओं के प्रबन्धक के लिये भी आईकार्ड जारी किया जाये, निर्माण कार्य में लीकेज का ध्यान रखा जाये, 14 जनवरी का स्नान ट्रायल के रूप में रखा जाये, कपड़े के मास्क बांटे जायें। व्यापार मण्डल के सुनील सेठी ने मेला क्षेत्र में स्थापित सरकारी नलों पर हुये कब्जों का मुद्दा उठाया, इस पर मेलाधिकारी ने कहा कि मैं स्वयं इसका निरीक्षण करूंगा। व्यापार मण्डल के जतिन हाण्डा ने आनन्दमयी व दरिद्रभंजन पुलों के जर्जर स्थिति की, श्री संजय त्रियाल ने सड़कों के बनते ही उखड़ने की, संजय कश्यप ने पार्किंग व मोतीचूर रेलवे स्टेशन का भी इस्तेमाल किये जाने की। मेलाधिकारी ने कहा कि घाटों पर पानी की निकासी का एक ट्रायल ले लिया जायेगा। सत्येन्द्र झा ने आॅनलाइन में फूड लाइसेंस लेने में आ रही दिक्कत का मामला उठाया, जिसे मेलाधिकारी ने कहा कि इसे ठीक करवा दिया जायेगा। धर्मशाला समिति के अध्यक्ष ने कुम्भ मेला अवधि में बिजली, पानी की व्यवस्था की ओर ध्यान आकर्षित किया, होटल एसोसिएशन के नीतू पंजवानी ने सुझाव दिया कि कुम्भ से सम्बन्धित दीवारों आदि जगहों में जो पेण्टिंग बनी हैं, उनकी वीडियोग्राफी कराकर प्रसारित की जायें, व्यापार मण्डल के नरेन्द्र शर्मा ने चिकित्सा सम्बन्धी आने वाली समस्या को उठाया। बैठक में गोरखनाथ व्यापार मण्डल ने शहर में गंगा मैया की पालकी कुम्भ मेले से पहले, जैसे उज्जैन में निकाली जाती है, निकालने का सुझाव दिया, धर्मशाला समिति ने रेलवे लाइन के पीछे गन्दगी का मुद्दा उठाया, प्रवीन शर्मा ने कुम्भ मेले के दौरान अवैध एम्बुलेंस का कारोबार, पुलों पर पेण्टिंग करना, स्नान पर्वों पर वी0आई0पी0 आगमन से होने वाली दिक्कतों की ओर ध्यान आकृष्ट किया, मेलाधिकारी ने कहा कि वी0आई0पी0 से हम अपील करेंगे। इस अवसर पर उपस्थित स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 के दृष्टिगत हम 150 बेड का हास्पिटल पन्तदीप में बना रहे हैं, हमारे पास पर्याप्त मात्रा में एम्बुलेंस हैं, जो जी0पी0एस0 माध्यम से संचालित होंगी। इसके अलावा 08 बाइक एम्बुलेंस भी हमारे पास हैं, जो भीड़भाड़ वाले इलाकों में इस्तेमाल की जा सकती हैं। बैठक सुमित अरोड़ा, पवन अग्रवाल, महेश वैश्य, शिवकुमार कश्यप, मयंक मूर्ति भट्ट, रिंकी अरोड़ा, अशोक गिरी, सतीश चन्द्र शर्मा, अंकित चुग, सूरज, नरेश शर्मा, दीपक भौमियाल, हिमांशु राजपूत, सर्वेश्वर मूर्ति भटट, विशाल मूर्ति भट्ट, वीरेन्द्र शर्मा, सुरेश गुलाटी,राजेन्द्र पाराशर, गौरव सचदेवा, प्रदीप कालरा, विशाल गोस्वामी सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।


Comments