स्व.पंकज लांबा की पत्नी ने मांगो को लेकर नगर मजिस्टेट कार्यालय पर दिया धरना

 

हरिद्वार। चमार वाल्मीकि महासंघ के कार्यकर्ताओं ने सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय के समक्ष धरने पर बैठी स्व.पंकज लांबा की पत्नि को धरना स्थल पर पहुंचकर समर्थन दिया। चमार वाल्मिीकि के संरक्षक एवं पूर्व सांसद डा.भगवान दास राठौर एवं चमार वाल्मीकि महासंघ के संस्थापक अध्यक्ष भंवर सिंह ने संगठन के कार्यकर्ताओं के साथ धरना स्थल पर पहुंचकर हजारों करोड रुपए के छात्रवृत्ति घोटाले का खुलासा करने वाले आरटीआई कार्यकर्ता पंकज लांबा की जिनकी 4 दिसंबर को हत्या कर दी गयी थी, के विरोध में दो मासूम बच्चों के साथ धरने पर बैठी मृतक की विधवा पत्नी ज्योति देवी को न्याय दिलाने के लिए समर्थन दिया। भंवर सिंह ने कहा कि अपराध चरम पर है। आम आदमी भयभीत है। जबकि अपराधी बेखौफ खुले घूम रहे हैं। जो बहुत ही चिंता का विषय है। उन्होंने सभी सामाजिक संगठनों एवं छात्रवृत्ति घोटाले में छात्रवृत्ति से वंचित छात्रों से अपील करते हुए कहा कि छात्र एवं समाज के लिए शहीद हुए पंकज लांबा की विधवा को धरने पर पहुंचकर उसे न्याय दिलाने के लिए समर्थन करें। चमार वाल्मीकि महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र श्रमिक ने आरोप लगाते हुए कहा कि आरटीआई कार्यकर्ता पंकज लांबा की षड्यंत्र के तहत की गई हत्या की सीबीआई जांच करा कर षड्यंत्रकारी सभी दोषियों को कड़ी सजा दी जाए। लांबा की पत्नि का ज्योति का आरोप है कि पंकज लांबा को लगातार धमकियां दी जा रही थी। गोली मारने से पहले उनके साथ मारपीट की गई। पुलिस ने जिन लोगों को इस मामले में आरोपी बनाया है। उनके खिलाफ एसएसी एसटी एक्ट की धाराएं भी लगायी जानी चाहिए। महासंघ के जिला अध्यक्ष भान पाल सिंह रवि ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि करोड़ों के छात्रवृत्ति घोटाले का पर्दाफाश करने वाले आरटीआई कार्यकर्ता पंकज लांबा के पीड़ित परिवार को एक करोड़ रूपया मुआवजा, उसकी पत्नी को सरकारी नौकरी एवं रहने के लिए मकान दिया जाए। इस दौरान कार्यवाहक जिला अध्यक्ष अजय कुमार, युवा जिलाध्यक्ष विपिन पेवल, महानगर अध्यक्ष चैधरी सुनील राजौर, युवा महानगर अध्यक्ष जितेंद्र तेश्वर, डा.प्रशांत राठौर, राजू खैरवाल, राजेंद्र भंवर आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे। पूर्व विधायक अमरीश कुमार, पूर्व राज्य मंत्री कांग्रेस नेता डा.संजय पालीवाल पूर्व नगर पालिका चेयरमैन सतपाल ब्रह्मचारी, एडवाकेट अरविंद शर्मा, आकाश भाटी, प्रशांत शर्मा, भेल एससी एसटी एसोसिएशन के सीपी सिंह, मनजीत सिंह, तीर्थपाल रवि, सतीश दुबे, विशाल राठौर, एडवोकेट रूपचंद, अरुण कुमार, विशाल, मनीष कुमार, सुनील कुमार कडच्छ, मुकेश श्रमिक ओबीसी महासभा के प्रदेश अध्यक्ष विजय सिंह पाल आदि ने भी धरने पर पहंुचकर सरकार से पंकज लांबा के परिवार को न्याय व आर्थिक सहायता दिए जाने की मांग की।