आंदोलन में शहीद हुए किसानों को युवा भारत साधु समाज व निर्मल भेख ने दी श्रद्धांजलि

 

हरिद्वार। दिल्ली में कृषि कानून के विरोध में धरना दे रहे किसानों के समर्थन में बलिदान देने वाले करनाल के महंत राम सिंह सिंगडा को युवा भारत साधु समाज और निर्मल भेख ने श्रद्धांजलि दी। कनखल स्थित संतपुरा आश्रम में श्रद्धांजलि देते हुए संत जगजीत सिंह शास्त्री ने कहा कि पिछले 23 दिनों से देश का किसान अपने अधिकारों के लिए दिन रात ठंड में धरना दे रहा है। इस दौरान कई किसानों और समर्थको ने अपना बलिदान भी दिया। सरकार को किसानों की भावनाओं को समझते हुए उनकी बात माननी चाहिए। युवा भारत साधु समाज किसानों का समर्थन करता है। सरकार द्वारा किसानों की बात नहीं मानने से नाराज महंत राम सिंह सिंगडा व कई किसानों ने अपना बलिदान दे दिया। संस्था सभी बलिदानियों को श्रद्धांजलि अर्पित करती है। स्वामी रवि देव शास्त्री ने कहा कि युवा भारत साधु समाज किसानों के साथ है और सरकार से मांग करती है कि किसानों की जो भी मांगे है उन्हे जल्द मान लिया जाए। किसान देश का अन्नदाता है और अन्नदाता ठंड में सड़क पर रात गुजार रहा है। महंत राम सिंह सिंगडा ने किसानों के लिए अपना बलिदान दिया। श्रद्धांजलि सभा में महंत मोहन सिंह, महंत कश्मीर सिंह, महंत मंजीत सिंह, संत बलजिंदर सिंह, संत तरलोचन सिंह, स्वामी शिवानंद, महंत प्रेम सिंह, स्वामी हरिहरानंद, स्वामी देव दास, स्वामी सुतीक्ष्ण मुनि, स्वामी श्रवण मुनि आदि उपस्थित रहे।


Comments