किसानों के जीवन में आई खुशी हमारी खुशी बढ़ा देती है-प्रधानमंत्री

 देश के अंदर कुछ ताकतें किसानों को भ्रमित करने का कार्य कर रहे-डाॅ.निशंक


हरिद्वार। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा बनाये गये तीनों कृषि कानून किसानों की मजबूत अर्थव्यवस्था की रीढ़ बनेंगे। इससे किसानों के सपने साकार होंगे। उन्होंने कहा कि आज देश के अंदर कुछ ताकतें ऐसी है, जोकि किसानों को भ्रमित करने का काम कर रही हैं। हमेशा किसान ने दूसरों का भला किया है। केंद्रीय मंत्री ने यह बात बीएसएम इंटर कॉलेज में आयोजित किसान मेला संगोष्ठी एवं प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि को लेकर आयोजित कार्यक्रम के दौरान कही। शुक्रवार को बीएसएम इंटर कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश लगातार आगे बढ़ रहा है। आज तक जितनी भी सरकारें बनी हैं, उनकी प्राथमिकता कभी किसान नहीं रही है। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने किसानों की सुध ली। प्रतिमाह किसान को 500 रुपये किसान सम्मान निधि के रूप में स्वीकृत किए। हर चार माह के अंतराल में किसान के खाते में धनराशि पहुंच जा रही है। कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पी0एम0 किसान योजना के अन्तर्गत नौ करोड़ किसान परिवारों के खातों में 18 हजार करोड़ रूपये की नई किस्त का हस्तांतरण किया। यह प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की सातवीं किस्त है। इस अवसर पर वर्चुअल माध्यम से प्रधानमंत्री ने कई राज्यों के किसानों से प्रधानमंत्री सम्मान निधि से मिलने वाली राशि का किसान किस ढंग से उपयोग करते हैं, उनकी जोत कितनी है, उनकी खेती के प्रति भावी क्या योजनायें हैं, सिंचाई परम्परागत ढंग से करते हैं या आधुनिक विधियों से, कृषि सुधार कानूनों से आपको क्या मदद मिली, खेती की नई विधियां अपनाने पर आपको कितना फायदा मिला, पहले कौन सी फसल उगाते थे तथा वर्तमान में कौन सी फसल उगा रहे हैं आदि के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस क्रम में उन्होंने अरूणाचल प्रदेश के किसान गंगनअपेनम,उड़ीसा के नवीन ठाकुर, हरियाणा के हरिसिंह, महाराष्ट्र के गणेश राजेन्द्र भोंसले, मध्य प्रदेश के मनोज पाटीदास, तमिलनाडु के शुभममणि, तथा उत्तर प्रदेश के राम गुलाब से संवाद स्थापित किया। प्रधानमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि किसानों के जीवन में आई खुशी हमारी खुशी बढ़ा देती है। आज का दिन बहुत ही पावन दिन है। किसानों को सम्मान निधि की किस्त मिली है, क्रिसमस का पर्व मनाया जा रहा है, उसकी शुभकामनायें, पण्डित मदनमोहन मालवीय की जयन्ती है, श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिन है, जिसे हम गुड गवर्नेंस के रूप में मनाते हैं। उन्होंने श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी का स्मरण करते हुये उनके द्वारा देश के विकास में उठाये गये कदमों व योजनाओं-स्वर्णिम चतुर्भज योजना, सर्व शिक्षा अभियान आदि का जिक्र किया तथा कहा कि कृषि सुधार हेतु जो कदम हमने उठाये हैं, वे उन्हीं की प्रेरणा है। उन्होंने पश्चिम बंगाल का जिक्र करते हुये कहा कि केवल पश्चिम बंगाल को छोड़कर देश के सभी राज्यों के किसान इससे लाभान्वित हो रहे हैं। देश की जनता सब जानती है। इस पर विपक्ष चुप क्यों है। वे किसानों को भ्रमित न करें।          प्रधानमंत्री के सम्बोधन से पहले केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र तोमर ने भी वर्चुअल माध्यम से सम्बोधित करते हुये कृषि सुधार कानून पर प्रकाश डाला। इससे पूर्व बी0एस0एम0 इण्टर काॅलेज, रूड़की में आयोजित समारोह के मुख्य अतिथि शिक्षा मंत्री डाॅ0 रमेश पोखरियाल निशंक ने इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये कहा कि हम यहां प्रधानमंत्री की ओर से किसानों का अभिवादन करने आये हैं। उन्होेंने कहा कि नौ करोड़ किसान परिवारों के खातों में 18 हजार करोड़ रूपयों का हस्तांतरण का चमत्कार मोदी सरकार ही कर सकती है। समारोह में डाॅ0 रमेश पोखरियाल निशंक ने पहल सिंह, विकास खण्ड, खानपुर को मत्स्य पालन, बालेन्द्र त्यागी, नारसन को आत्मा परियोजना, सुशील कुमार, विकास खण्ड बहादराबाद को सब्जी उत्पादन तथा पीयूष पुण्डीर को पशुपालन के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिये किसान भूषण पुरस्कार प्रदान कर  सम्मानित किया। इस अवसर पर विधायक प्रदीप बत्रा, अमीलाल वाल्मीकि, मेयर गौरव गोयल, मुख्य विकास अधिकारी विनीत तोमर, उप जिलाधिकारी, सुश्री नमामि बंसल, मुख्य कृषि अधिकारी विकेश कुमार सिंह यादव, उद्यान अधिकारी श्री नरेन्द्र यादव सहित बड़ी संख्या में किसान आदि उपस्थित थे।