आरटीआइ कार्यकत्र्ता पंकज लांबा की संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से मौत के मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज होने के बाद हर एंगल से मामले की जांच

 हरिद्वार। कोतवाली रानीपुर पुलिस आरटीआइ कार्यकत्र्ता पंकज लांबा की संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से मौत के मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज होने के बाद हर एंगल से मामले की जांच कर रही है। पुलिस ने पार्टी में मौजूद रहे दोनों दोस्तों और नाबालिग लड़कियों के बयान दर्ज किए गए हैं। साथ ही, उनकी कॉल डिटेल भी खंगाली जा रही है। बताते चले कि बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले की शिकायत करने वाले मेरठ के दोराला थानाक्षेत्र के गांव मछरी निवासी पंकज लांबा शुक्रवार रात अपने मित्र मानव कुमार और कासिम के साथ सुमननगर की विद्या कॉलोनी में दो नाबालिग बहनों के घर पार्टी कर रहे थे। उसी दौरान आधी रात संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से पंकज लांबा की मौत हो गई थी। दोस्तों का दावा है कि पार्टी में शामिल नाबालिग लड़की के हाथ से ट्रिगर दबने से गोली चली और पंकज की मौत हो गई। इस मामले में रविवार को पंकज की पत्नी ज्योति ने मानव और कासिम के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। ज्योति का कहना है कि दोनों दोस्त उनके पति को यह कहकर घर से बुलाकर ले गए थे कि साइट पर चोरी हो रही है। इसलिए वह दोनों असलहे साथ ले गए थे। पत्नी का सीधा आरोप है कि दोस्तों ने किसी अज्ञात के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची है। हाल के दिनों ने पंकज के अलावा उनके दोस्तों व दोनों नाबालिग बहनों की मोबाइल पर किन-किन व्यक्तियों से बात हुई है, इस बारे में पुलिस छानबीन कर रही है। रानीपुर कोतवाली प्रभारी योगेश सिंह देव ने बताया कि हर एंगल से मामले की जांच की जा रही है। बहुत जल्द घटना का पर्दाफाश कर लिया जाएगा।