स्कूल प्रबंधन के खिलाफ शिक्षाधिकारी को ज्ञापन देकर की न्याय दिलाने की मांग

 

हरिद्वार। रोशनाबाद स्थित एक जूनियर हाई स्कूल के प्रधानध्यापक के नेतृत्व मे स्कूल की अध्यापिकाओं ने स्कूल प्रबंधन पर हठधर्मिता का आरोप लगाते हुए शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन दिया। ज्ञापन में प्रधानाध्यक्ष, अध्यापकों तथा अध्यापिकाओं ने स्कूल प्रबंधन पर आरोप लगाया है कि उन्हें बिना किसी पूर्व सूचना के नौकरी से निकाल दिया गया हैं। शिक्षकों ने  जिलाधिकारी को भी पूरे मामले से अवगत कराते हुए न्याय दिलाने की मांग की है। प्रधानाध्यक्ष अमित कुमार ने बताया कि वे तथा सभी शिक्षक व शिक्षिकाएं वर्षो से स्कूल में सेवाएं दे रहे हैं। लेकिन बीती 2 दिसंबर को प्रबंध समिति ने फोन कर सभी को नौकरी से हटाने तथा नए शिक्षक रखने का फरमान सुना दिया। अमित कुमार ने कहा कि कोरोना काल में भी वे स्कूली बच्चों को आॅनलाईन पढ़ाते रहे। अप्रैल से नवंबर तक उन्हें वेतन भी नहीं दिया गया। काफी गुहार लगाने के बाद केवल महीने का वेतन दिया गया। वेतन नहीं मिलने से सभी की आर्थिक स्थिति आर्थिक खराब को चुकी है। वेतन नहीं देने के बाद बिना किसी पूर्व सूचना के पूरे स्टाफ को नौकरी से हटा दिया गया। शिक्षिका अभिलाषा व आर्येष ने कहा कि स्कूल प्रबंधन छात्रों के भविष्य से भी खिलवाड़ कर रहा है। बार बार गुहार लगाए जाने के बावजूद प्रबंधन समिति कुछ सुनने को तैयार नहीं है और हठधर्मिता पर अड़िग हैं। ज्ञापन देने वालों में ममता, मीनू चैहान, मोनिका, नीतू बिष्ट, नेहा शर्मा, पूजा, रीना चैहान, सारिका शर्मा, शिखा, शोभा, कविता चैहान आदि शिक्षिकाएं भी शामिल रही।