कम्पनी से चोरी के मामले में कबाड़ी सहित दो गिरफ्तार,दो फरार,दो लाख का माल बरामद

 हरिद्वार। कोतवाली रानीपुर क्षेत्रान्गर्त गैस प्लांट स्थित लोहे की जाली बनाने वाली कंपनी में चोरी करने के एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार करने के साथ ही चोरी का माल खरीदने वाले कबाड़ी को भी पुलिस ने जेल भेज दिया है। इस मामले में अभी दो आरोपी फरार है। पुलिस के अनुसार नशे के कारण आरोपियों ने चोरी की थी। तीन आरोपियों ने मिलकर इस चोरी को अंजाम दिया। आरोपी की निशानदेही पर करीब 2 लाख रुपये का माल बरामद हुआ है। पुलिस के मुताबिक बीते 20 दिसंबर को जगरोशन देवी पत्नी राजकुमार निवासी शिवालिक नगर कोतवाली ने पुलिस को शिकायत देकर बताया था कि उनकी एफ-29 औद्योगिक क्षेत्र में एक कंपनी है। जहां पर लोहे की जाली बनाने का काम होता है। एक माह से कंपनी बंद थी। कंपनी जब एक माह बाद खोली तो देखा कि लोहे का सामान और मशीन के पार्ट्स गायब थे। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पुलिस ने जांच करते हुए सीसीटीवी की मदद और मुखबिर की सूचना पर एक युवक शुभम सैनी पुत्र सतीश सैनी निवासी ग्राम जमालपुर खुर्द रानीपुर हरिद्वार को चोरी के दो चैनल और गार्टर बेचने के लिए ले जाते हुए गिरफ्तार किया। पुलिस शुभम को कोतवाली ले आई। जहां सख्ती से पूछताछ की गई। आरोपी ने बताया कि 19 दिसंबर को दो अन्य साथी संजय पुत्र चंदन और शाहरुख पुत्र शराफत निवासीगण जमालपुर खुर्द रानीपुर हरिद्वार के साथ मिलकर बंद कंपनी में चोरी की गई थी। जिसका सामान जाकिर मलिक नाम के कबाड़ी को बेचा है। पुलिस ने जाकिर मलिक के निशानदेही पर सिडकुल स्थित जाकिर के गोदाम में छापेमारी की। जिसमें पुलिस को 10 लोहे के गार्टर, तीन बेलनाकार रोलर, 4 रोल लोहा जाली समेत 2 लाख रुपये का सामान बरामद हुआ है। गुरुवार को पुलिस ने आरोपी शुभम सैनी और कबाड़ी जाकिर मलिक को जेल भेज दिया है। जबकि फरार अन्य दो लोगों की तलाश की जा रही है। पुलिस टीम में एसएसआई विक्रम धामी, गैस प्लांट चैकी प्रभारी प्रवीन रावत, कांस्टेबल प्रदीप भंडारी, भूपेंद्र, संतराम आदि शामिल रहे। चैकी प्रभारी प्रवीन रावत ने बताया कि दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। आरोपी नशे की लत को पूरा करने के लिए चोरी करते थे।