नाबालिग की हत्या मामले में मामा-भांजे के खिलाफ दुष्कर्म, पोक्सों, हत्या का मुकदमा दर्ज

घटना से आक्रोशित लोगों ने किया सड़क जाम,दिनभर पुलिस बल तैनात

हरिद्वार। नगर कोतवाली क्षेत्र में बीती रात नाबालिग के साथ दुष्कर्म व हत्या के मामले में पुलिस ने लापता में मामा-भांजे के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। झकझोर देने वाली इस मामले में पुलिस ने घटना स्थल से ही भांजे को गिरफ्रतार कर लिया। जबकि मामा परिवार के साथ फरार है। दूसरी ओर मृतका का पोस्टमार्टम सोमवार को तीन चिकित्सकों के पैनल टीम द्वारा वीडियोंग्राफी के साथ कराया गया। नाबालिग का पोस्टमार्टम होने तक कई थानों की भारी पुलिस फोर्स घटना स्थल और जिला अस्पताल में मौजूद रही। घटना स्थल के पास पुलिस प्रशासन की ओर से एक दमकल विभाग की गाडी को भी तैनात किया गया था। बताते चले कि नगर कोतवाली क्षेत्र में अपहरण के बाद 11 वर्षीय बच्ची की हत्या कर दी गई। बच्ची का शव एक पड़ोसी के घर की तीसरी मंजिल के बाथरूम से मिला। घटना से गुस्साए परिजनों और लोगों ने जमकर हंगामा किया। पुलिस ने एक आरोपी युवक को हिरासत में ले लिया। पुलिस के मुताबिक, ऋषिकुल क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति पेशे से कांट्रेक्टर है। कक्षा चार में पढ़ने वाली उनकी बेटी रविवार को घर के बाहर साइकिल चला रही थी। काफी देर तक जब वह नहीं लौटी तो परिवारवालों ने खोजबीन शुरू की। बच्ची के न मिलने पर उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले लेकिन बच्ची कॉलोनी से बाहर जाती नहीं दिखाई दी। कुछ लोगों ने बताया कि बच्ची को शाम को पास के एक घर की छत पर देखा गया था। पुलिस ने उस घर में रहने वालों से पूछताछ की तो उन्होंने कुछ नहीं बताया। इसके बाद पुलिस ने घर खंगाला तो तीसरी मंजिल के बाथरूम में बच्ची का शव मिला। इस पर परिजनों और लोगों ने जमकर हंगामा काटा। उन्होंने आरोपी के घर में आग लगाने का प्रयास किया और पथराव भी किया। लोगों में इस कदर गुस्सा था कि उनकी पुलिस अधिकारियों से तीखी नोकझोंक हुई। लोगों के गुस्से को देखते हुए बच्ची का शव कई घंटे तक बाहर नहीं लाया जा सका। बताया जा रहा हैं कि एक पांच साल के बच्चे के सुराग पर लापता नाबालिग के रहस्मयी लापता से पर्दा उठा। बताया जा रहा हैं कि बच्चे ने खुलासा किया कि काॅलोनी मेे स्थित राजीव पुत्र प्रभु दयाल के रेडिमेट ग्रामेंटस गोदाम के कर्मी राम तीरथ द्वारा दोनों को देखकर लापता को आधे घंटे बाद पंतग लेने के लिए बुलाया था। इस जानकारी के बाद शुरू से अब तक पुलिस व परिवार के साथ मिलकर रात तीरथ और उसका गोदाम मालिक राजीव लापता के तलाशने का नाटक कर रहे थे। पुलिस ने तत्काल राम तीरथ को हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी। जिसकी निशानदेही से ही पुलिस ने तीसरी मंजिल के स्टोर से लापता का शव बरामद किया। गिरफ्तार किए गए आरोपी रामतीरथ की निशानदेही पर रानीपुर मोड़ के पास एक होटल की डस्टबीन से बच्ची के कपड़े बरामद हुए हैं। लापता का शव के मिलते ही राजीव भी घटना स्थल से पुलिस की व्यस्तता का फायदा उठाकर फरार हो गया। घटना की जानकारी पर गुस्साएं क्षेत्र के नागरिकों ने मकान में तोडफोड करते हुए वहां पर खडी दो बाइकों को क्षतिग्रस्त कर दिया और एक बाइक को आग के हवाले कर दिया। मामले की सवेदनशीलता को देखते हुए कई थानों का पुलिस बल मौके पर बुला लिया गया। पुलिस ने मृतक के पिता की तहरीर पर गोदाम मालिक राजीव और कर्मी राम तीरथ यादव के खिलाफ दुष्कर्म, पोक्सों, हत्या सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए कर्मी राम तीरथ यादव को गिरफ्रतार कर लिया, लेकिन गोदाम मालिक फरार है। बताया जा रहा हैं कि जब पुलिस ने गोदाम मालिक के नया हरिद्वार स्थित आवास पर छापा मारा तो पता चला कि गोदाम मालिक परिवार के साथ फरार हो गया। जिसकी पुलिस सरगर्मी से तलाश में जुटी है। बताया जा रहा हैं कि गोदाम मालिक राजीव और राम तीरथ यादव रिश्ते में मामा-भांजे है। नगर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अमरजीत सिंह ने बताया की पीडित परिवार की ओर से गोदाम मालिक और कर्मी के खिलाफ दुष्कर्म, पोक्सों, हत्या आदि में मुकदमा दर्ज करते हुए कर्मी को गिरफ्रतार कर लिया। जबकि गोदाम मालिक की तलाश की जा रही है। घटना को लेकर लोगों में भारी गुस्सा है। तनाव को देखते हुए मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।