सड़क निर्माण नही होने से नाराज लोगो ने खोला विधायक के खिलाफ मोर्चा

 हरिद्वार। पुरानी हरिद्वार रोड संघर्ष समिति ने सड़क निर्माण नही होने पर सभी चुनावों के बहिष्कार का ऐलान किया है। समिति ने क्षेत्रीय विधायक पर जनता को गुमराह करने का भी आरोप लगाया। बुधवार को प्रेस क्लब में पत्रकारो से वार्ता के दौरान यूथ कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष राजीव चैधरी ने बताया की ग्राम कांगड़ी, गाजीवाली, श्यामपुर, सजनपुर पीली को जोड़ने वाली पुरानी हरिद्वार रोड की दशा अत्यधिक खराब है। इसके चलते ग्राम वासियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बार-बार जनप्रतिनिधियों का ध्यान आकर्षित करने के बावजूद ग्रामीणों को केवल आश्वासन मिला है। जिससे ग्रामीणों का आक्रोश दिनों दिन बढ़ता ही जा रहा है। इसी मुद्दे पर 25 दिसंबर को श्यामपुर चैक पर एक दिवसीय विशाल धरना प्रदर्शन किया जाएगा। इसके बाद भी सरकार नींद से नहीं जागी तो उग्र आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल में पूर्व सीएम हरीश रावत इस सड़क का निर्माण कराने में असफल रहे थे। इसका खामियाजा उन्हें हार के रूप में चुकाना पड़ा था। चुनाव के दौरान स्थानीय विधायक ने जनता को सड़क बनाने का आश्वासन दिया था। बदले में क्षेत्र की जनता ने उन्हें जीत का तोहफा दिया था। लेकिन चुनाव संपन्न होने के बाद विधायक अपना वादा भूल चुके हैं। इस मौके पर अंतर्राष्ट्रीय हिंदू महासभा के अनिल भारद्वाज ने कहा कि लालढांग क्षेत्र के निवासियों को सड़क, बिजली, पानी, सीवर, विद्यालय, अस्पताल सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं के लिए जूझना पड़ रहा है।  उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी सदस्य पीएन बलोथी ने कहा कि क्षेत्रीय ग्रामीणों को सड़क निर्माण की पहली किस्त जारी होने पर मुख्यमंत्री एवं विधायक का आभार भी जताया था। लेकिन 6 माह बीतने के साथ अभी तक 1 इंच सड़क का निर्माण नहीं हुआ है। इसके चलते ग्रामीणों में विधायक के प्रति आक्रोश पनप रहा है। पत्रकार वार्ता में शंभू प्रसाद, शीशपाल, अजय उनियाल, विवेक कुमार सहित कई लोग मौजूद रहे।