स्वदेशी हस्तनिर्मित वस्तुओं से एक अच्छा संदेश मिलता है-अपर मेलाधिकारी

 हरिद्वार। नगर के ऋषिकुल मैदान में रामराज ग्रामोद्योग सेवा संस्थान की ओर से आयोजित क्राफ्ट बाजार (हस्तशिल्प) मेले का आगाज शनिवार से हो गया है। मेले में विभिन्न राज्यों के शिल्पकारों ने हस्तनिर्मित वस्तुओं के स्टॉल लगाए हैं। शनिवार की शाम को रामराज ग्रामोद्योग सेवा संस्थान की ओर से आयोजित क्राफ्ट बाजार मेले का हरिद्वार-रुड़की विकास प्राधिकरण (एचआरडीए) के सचिव व अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह ने रिबन काटकर शुभारंभ किया। हरबीर सिंह ने कहा कि हस्तनिर्मित वस्तुओं को बनाने और बढ़ावा देने के लिए काम करने वाले शिल्पकारों को क्राफ्ट बाजार मेले के माध्यम से एक स्थान मिला। उन्होंने कहा कि ऐसे मेले के आयोजनों से स्टॉल लगाकर अपनी कला का प्रदर्शन करने वाले कारीगरों की कला को बढ़ावा मिलता है। इसके साथ ही विभिन्न राज्यों की कला को स्थानीय लोग मेले के माध्यम से देख पाते हैं। हस्तनिर्मित वस्तुओं को खरीद कर उनका उपयोग कर पाते हैं। स्वदेशी हस्तनिर्मित वस्तुओं से एक अच्छा संदेश भी मिलता है। संस्थान के अध्यक्ष सर्वेश्वर मूर्ति भट्ट ने कहा कि हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, जम्मू कश्मीर के अलावा उत्तराखंड राज्य के विभिन्न जिलों के शिल्पकारों ने मेले में स्टॉल लगाए हैं। किसी भी स्टॉल संचालक से शुल्क नहीं लिया गया है। सचिव संजू शर्मा ने बताया कि क्राफ्ट बाजार मेले में आर्टिफिशियल ज्वेलरी बैग, लोई, शॉल, कांच के बने सामान, कारपेट, टेराकोटा, जूट सामग्री, टेडीबियर, पंखी आदि के स्टॉल लगाए गए हैं। संयोजक सीपी शर्मा ने बताया कि मेला शनिवार से शुरू होकर 27 दिसंबर को समापन किया जाएगा। मेले के संपन्न होने तक विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा मेले में खानपीन के स्टॉलों के साथ ही बच्चों के मनोरंजन के लिए झूले लगाए गए हैं। इस अवसर पर एडिशनल डायरेक्टर नलिन राय, हैंडीक्राफ्ट संवर्धन अधिकारी शैलेश सिंह, कमल चैधरी आदि शामिल रहे।


Comments