सीटू ने किसानों के समर्थन में धरना देकर की कृषि कानून वापस लेने की मांग

 

हरिद्वार। सीटू जिला कमेटी हरिद्वार द्वारा किसानों की मांगों के समर्थन में भगत सिंह चैक पर धरना देते हुए केन्द्र सरकार से मांग की। धरने को सम्बोधित करते हुए सीटू के जिला अध्यक्ष पीडी बलोनी ने कहा कि देश में किसान कानून के विरोध मंे आन्दोलनरत किसानों की मांगांे पर अहम को त्यागते हुए सरकार को किसान कानून को वापस लेते हुए फिर से समावेशी कानून लागू करना चाहिए। उन्हांेने कहा कि किसान आन्दोलन को बदनाम करने के उद्देश्य से किसानों को खालिस्तानी नकस्ली विदेशी हाथ होने का दुष्प्रचार करना बन्द किया जाये। आन्दोलनरत किसानों व समर्थन में आये नागरिकों पर कराये जा रहे मुकदमे समाप्त किये जाये। जिला मंत्री इमरत सिंह ने कहा कि देश के किसानों व जवानो को आपस में लड़ाने की कोशिश बन्द की जाये। उन्होंने कहा कि सरकार कृषि कानूनों में किसाने हित को सर्वपरि मानना चाहिए। किसानों के लिए कृषि बनाने से पहले विचार-विमर्श किया जाना चाहिए। गतिरोध का कारण कृषि कानून बना हुआ है ऐसे में सरकार को जल्द से जल्द से इस कृषि कानून को वापस लेकर किसानों को राहत पहुंचाना चाहिए। इस मौके पर धरना प्रदर्शन में मुख्य रूप से जिला अध्यक्ष पीडी बलोनी, जिला मंत्री इमरत सिंह, किसान सभा के संयोजक आरसी धीमान, सह संयोजक लालदीन सत कुमार, आरपी जखमोला, राजकुमार, बीरेन्द्र नेगी, एमपी जखमोला, सुरेन्द्र कुमार रोबिन, केके प्रसाद आदि शामिल रहे।


Comments