कुम्भ मेला आईजी ने की उद्यमियों के साथ बैठक,मांगा सहयोग

 

हरिद्वार। कुम्भ मेला 2021 को लेकर उद्यमियों एवं उनसे जुड़े संगठनों के पदाधिकारियों के साथ कुम्भ मेला आईजी संजय गुंज्याल, की बैठक की। सीसीआर में आयोजित बैठक में आगामी कुम्भ मेला 2021 की व्यवस्थाओं के संबंध में विचार विमर्श किया गया। बैठक में सिडकुल इण्डस्ट्री एसो. के अध्यक्ष हरेंद्र गर्ग द्वारा बताया गया कि सिडकुल में स्थापित उद्योगों द्वारा 97ः कच्चे माल का आयात अन्य प्रदेशों से किया जाता तथा इतना ही तैयार माल बाहरी प्रदेशों को भेजा जाता है। इससे स्पष्ट है कि हर तरह के माल का समय से आवागमन उद्योगों के लिए कितना महत्वपूर्ण होता है। इसलिए आवश्यक है कि स्नान पर्वों के समय कि जब भी औद्योगिक वाहनों का आवागमन बन्द किया जाए अथवा आवागमन का मार्ग बदला जाए तो इसकी सूचना समय से प्रदान की जाए। इसके अतिरिक्त कुम्भ के दौरान श्रद्धालुओं के वाहनों की पार्किंग व्यवस्था के साथ साथ औद्योगिक वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था भी बनाई जाए। सिडकुल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष अरूण सारस्वत के द्वारा उद्योगों में कार्य करने वाले वर्कर्स के स्नान पर्वों पर आवागमन में उतपन्न होने वाले व्यवधान के सम्बंध में बताते हुए वर्कर्स के आने जाने की सुगम  व्यवस्था बनाये जाने की आवश्यकता बताई। यदि सम्भव हो तो कुम्भ के यातायात और औधोगिक वाहनों के यातायात की अलग अलग यातायात योजनाएं बनाई जाए। सिडकुल मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन के महामंत्री राज अरोड़ा ने उत्तराखंड के द्वारा उद्योगों और मेला पुलिस प्रशासन के मध्य उच्चकोटि का  समन्वय बनाये जाने के लिये एक व्हाट्सएप ग्रुप और एक सक्षम नोडल अधिकारी को नियुक्त किये जाने का सुझाव दिया गया। मेला आईजी संजय गुंज्याल ने बताया कि स्नान पर्वों के दौरान अधिक भीड़ की संभावना के दृष्टिगत भारी वाहनों के आवागमन को प्रतिबंधित किया जाना अथवा उनका मार्ग बदला जाना परिस्थितियों के अनुसार अत्यंत आवश्यक होता है परंतु जब भी इस प्रकार की कोई व्यवस्था लागू की जाएगी तो सिडकुल एसोसिएशनस को समय से अवगत कराया जाएगा। पूर्व में हुए महाकुम्भ एवम अन्य बड़े मेलों के आयोजनों के अनुभवों को दृष्टिगत रखते हुए औधोगिक इकाइयां पूर्व से अपनी अपनी तैयारियां और व्यवस्थाएँ बनाकर रखे। अप्रैल माह में आयोजित होने वाले मुख्य शाही स्नान पर्व बैसाखी पर कम से कम 4-5 दिन पूर्ण रूप से यातायात प्रतिबंध लागू रहेंगे इसलिए सभी औद्योगिक इकाइयां उक्त परिस्थितियों के लिये तैयार रहें। पुलिस उपाधीक्षक यातायात प्रकाश देवली ने बताया कि


Comments