धर्म और कौम के लिए अपना बलिदान दे दिया गुरू गोविंदसिंह के चार साहिबजादे


 हरिद्वार। कनखल स्थित कृष्णा नगर कॉलोनी में सिक्ख समाज के दसवें गुरु गुरु गोबिंद सिंह के चार साहिबजादो के शहीदी दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। रामलीला मैदान में आयोजित कार्यक्रम में चार साहिबजादे क्विज प्रतियोगिता आयोजित की गई। इस अवसर पर मुख्य अतिथि निर्मल संतपुरा आश्रम के परमाध्यक्ष संत जगजीत सिंह शास्त्री ने कहा कि बच्चों को अपनी संस्कृति की जानकारी होनी आवश्यक है। चार साहिबजादे जुझार सिंह, अजीत सिंह, फतेह सिंह, जोरावर सिंह ने अपने धर्म और कौम के लिए अपना बलिदान दे दिया। उन्ही की याद में शहीदी दिवस मनाया जाता है। उन्होंने जुल्म के आगे झुकना मंजूर नहीं किया। गुरु गोबिंद सिंह का पूरा परिवार बलिदानी परिवार है। उनके बताए मार्ग पर चलकर मनुष्य अपना जीवन संवार सकता है। कार्यक्रम की संचालक कंचन तनेजा ने बताया कि कॉलोनी में गुरुमुखी कि कक्षाओं का संचालन किया जाता है। बच्चे गुरुमुखी और गुरुओं के बारे में ज्ञान अर्जित करते हैं। बच्चो को चार साहिबजादो के बारे में भी बताया जाता है। कार्यक्रम में जसलीन कौर, हर्षप्रीत, कंवल तनेजा, मनप्रीत कौर, प्रभलीन कौर, सिमर दर्गन, भानुप्रिया, वैष्णवी खत्री, भूवी, अर्चना, आराध्या, अमन, कशिश, कार्तिका, वैदेही आदि बच्चों को मुख्य अतिथि द्वारा प्रमाण पत्र और स्मृति चिन्ह भी वितरित किए गए। इस अवसर पर उत्तरांचल पंजाबी महासभा के जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार, पूर्व जिलाधयक्ष अमर कुमार, पार्षद रेणु अरोड़ा, परमिंदर सिंह गिल, बिट्टू, बलविंदर सिंह आदि उपस्थित थे।