आरटीआइ एक्टिविस्ट पंकज लांबा को सदिग्ध परिस्थितियों में लगी गोली,मौत

 हरिद्वार। कोतवाली रानीपुर कोतवाली क्षेत्रान्गर्त सोपान नगर में गोली लगने से एक युवक की मौत हो गई। दरअसल, तीन दोस्त दो नाबालिग बहनों के घर पहुंचे थे। बताया जा रहा है कि एक नाबालिग बहन के असलहा देखने के दौरान अचानक गोली चल गई और आरटीआइ एक्टिविस्ट पंकज लांबा को लग गई। फिलहाल, एसएसपी समेत आला अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच जांच में जुटे हुए हैं। पंकज लाबा ने छात्रवृत्ति घोटाले को उजागर करने में अहम भूमिका निभाई थी। साथ ही, उनके कांग्रेस नेताओं से संबंध भी सामने आ रहे हैं। पुलिस के मुताबिक गोली लगने से घायल एक युवक को तड़के एक निजी अस्पताल में लाया गया था, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पुलिस पहले अस्पताल और फिर सुमन नगर स्थित एक घर पहुंची। बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाला उजागर करने में पंकज लांबा ने अहम भूमिका निभाई थी। सूचना के अधिकार में जानकारियां लेकर पंकज ने ही हरिद्वार में सबसे पहले छात्रवृत्ति घोटाले होने का दावा किया था। बाद में हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर होने के बाद सरकार ने इस मामले की जांच कराई।  एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि रानीपुर कोतवाली क्षेत्र के सलेमपुर निवासी पंकज, मनोज और कासिम सुमन नगर में अपने दो छोटे भाइयों के साथ रहने वाली नाबालिग बहनों के घर आए थे। बताया गया है कि दो युवकों ने शराब पी हुई थी। रात करीब तीन बजे पंकज को गोली लगने के बाद अस्पताल ले जाया गया। एक नाबालिग बहन ने बताया कि वह पंकज के हाथ से असलहा लेकर देख रही थी, उसी दौरान गोली चली मगर यह कहानी पुलिस के गले नहीं उतर रही है फिलहाल दोनों नाबालिग बहनों और पंकज के दोस्त कासिम और मनोज शक के दायरे में हैं। इन सभी से पूछताछ की जा रही है।


Comments