जनवरी से कुंभ नहीं होने पर प्रदेश व्यापार महानगर ने दी आंदोलन की चेतावनी

 

हरिद्वार। व्यापारियों ने जनवरी से कुंभ का आयोजन नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। प्रदेश व्यापार मंडल महानगर कार्यकारिणी की बैठक में व्यापारियों ने आरोप लगाया कि मेला प्रशासन हमेशा की तरह चार महीने तक चलने वाले कुंभ मेले को दो महीने का करने की योजना बना रहा है। जिससे व्यापारियों में भारी आक्रोश है। बड़ा बाजार स्थित धर्मशाला में आयोजित प्रदेश व्यापार मण्डल महानगर कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करते हुए जिला उपाध्यक्ष राजू वधावन ने कहा कि कुंभ मेले को लेकर मेला प्रशासन स्थिति को साफ करे। कभी दिव्य और भव्य कुंभ मेला किए जाने का दावा किया जाता है, तो कभी कोरोना का हवाला देकर सादगी पूर्ण तरीके से ही कुंभ होने की बात अधिकारी कह रहे हैं। यदि कुंभ मेला जनवरी से नहीं हुआ तो व्यापारी मेला प्रशासन के खिलाफ आंदोलन करेगा। जिला महामंत्री डा.विशाल गर्ग ने कहा कि लाॅकडाउन से पूरी तहर टूट चुके व्यापारियों को कुंभ से बहुत आस है। व्यापारियों को उम्मीद ह कि कुंभ में व्यापार पटरी पर लौटेगा। लेकिन मेले को लेकर स्थिति साफ नहीं की जा रही है। महानगर अध्यक्ष मयंक मूर्ति भट्ट ने कहा कि मेला प्रशासन और सरकार की मंशा पर सभी व्यापारियों को शक है। जनवरी, फरवरी के स्नान पर्वो को लेकर मेला प्रशासन अपनी योजना स्पष्ट करे। महानगर कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण शर्मा ने कहा कि घाटों पर चल रहे कार्यों में कई अनिमयता बरती गई। साथ ही मेला प्रशासन ने किसी धर्मशाला स्वामी व सुभाष घाट व्यापार मण्डल को अपने विश्वास में लिए बिना एक रंग में रंगने का फरमान अपने कार्यालय से सुना दिया। जिससे व्यापारी और दबाब महसूस कर रहे हैं। महानगर महामंत्री सुमित अरोड़ा ने कहा कि कुंभ की शुरुआत जनवरी से की जाए। लॉकडाउन के बाद प्रशासन सभी स्नान पर्व को एक-एक कर स्थगित करता आया है। जिससे व्यापारी टूट चूका है। सुभाष घाट व्यापार मण्डल अध्यक्ष आदेश मारवाड़ी ने कहा व्यापारी वर्ग हर छोटे बड़े मेलो में प्रशासन का सहयोग करता आया है। बैठक में जिला महामंत्री तेजप्रकाश साहू, हरकी पौड़ी व्यापार मण्डल अध्यक्ष सर्वेश्वर मूर्ति भट्ट, महामंत्री रिक्की अरोड़ा, भीमगोडा खड़खड़ी अध्यक्ष अजय अरोड़ा, कोषाध्यक्ष मधुर अरोड़ा, महानगर उपाध्यक्ष प्रणय पचभैया, मनोज सिरोही, सूरज मल्होत्रा, वरिष्ठ व्यपारी नेता विक्रम सिंह नाचीज, जिला सचिव अशोक गिरी, अंकित चुघ, नरेश बेदी, विशाल भट्ट, धीरज अरोड़ा, रिक्की अरोड़ा, बड़ा बाजार कार्यकारी अध्यक्ष हिमांशु शर्मा, मनीष शर्मा आदि उपस्थित रहे।


Comments