मेला आईजी ने अधिनस्थों की ली बैठक दिए निर्देश

 हरिद्वार। कुम्भ मेला पुलिस महानिरीक्षक संजय गुंज्याल कुम्भ मेला 2021 को लेकर अधिनस्थों के साथ बैठक कर विभिन्न बिन्दुओं पर चर्चा की।


इस दौरान मेला एसएसपी जन्मजेय खंडूरी भी मौजूद रहे। रविवार को मेला नियंत्रण भवन सभागार मे अयोजित बैठक में प्रथम चरण में आये पुलिस बल की आगामी कुम्भ मेला के सकुशल एवं निर्विघ्न आयोजन के परिपेक्ष्य में चर्चा की गई। बैठक में उपनिरीक्षक से लेकर अपर पुलिस अधीक्षक स्तर तक के अधिकारी सम्मिलित हुए। इस दौरान दौरान सर्वप्रथम पुलिस महानिरीक्षक द्वारा प्रथम चरण में आये पुलिस बल का स्वागत किया गया तथा उनके आवास एवम भोजन आदि से सम्बंधित समस्याओं के बारे में जानकारी की गई।तत्पश्चात कुम्भ मेला द्वारा सभी पुलिस उपाधीक्षक स्तर के समस्त अधिकारियों को अपने अपने सेक्टरों में कुम्भ मेला पुलिस के व्यवस्थापन से सम्बंधित कार्यों के निष्पादन के लिये प्रथम चरण में आये निरीक्षक, उपनिरीक्षक एवम आरक्षीगण में से छांट कर अपनी-अपनी टीमें बनाने के लिये निर्देश दिए गए। बैठक में मुख्य तौर पर तय किया गया है कि मेला क्षेत्र में लगे हुए सीसीटीवीएवम लाउडस्पीकरों के स्थानों की उपयोगिता की जांच करें। मेला क्षेत्र में हुए अतिक्रमण को चिन्हित करना तथा भीड़ नियंत्रण की दृष्टि से जिन स्थानों से अतिक्रमण हटना अतिआवश्यक हो और वो अभी तक नही हटे हों तो ऐसे संवेदनशील स्थानो का चिन्हीकरण करना। अखाड़ों के पेशवाई मार्गों का भृमण तथा निरिक्षण करते हुए मार्ग में हुए अतिक्रमण, व्यवधान एवम अन्य बाधाओं के सम्बंध में जानकारी करना। शाही स्नान में अखाड़ों के आने के एवम वापसी के मार्गों का भृमण एवम निरीक्षण करते हुए सुव्यवस्थित, बाधारहित एवम निर्विघ्न शाही स्नान सुनिश्चित करने वाली योजना निर्मित करना। अपने-अपने क्षेत्रों में स्थापित अखाड़ों की छावनियों, निवास स्थलों, मुख्यालयों के सम्बंध में पूरी जानकारी प्राप्त करना तथा अखाड़ों के पदाधिकारियों से उच्चकोटि का समन्वय स्थापित करना। स्थानीय जनपद पुलिस के साथ समन्वय स्थापित करके मेले के दौरान एक टीम की भांति कार्य करना। कुम्भ मेलों एवम अन्य मेलों के दौरान हुई दुर्घटनाओं और उनके कारकों के सम्बंध में जानकारी प्राप्त कर दुर्घटना की पुनरावृत्ति रोकने की  कार्य योजना तैयार करना। मेला क्षेत्र में रहने वाले किराएदारों, नोकरों, निवासरत बाहरी व्यक्तियों के चरित्र सत्यापन किये जाने हेतु गहन सत्यापन अभियान आदि पर चर्चा की गयी। इन सभी को लेकर कोविड19 को दृष्टिगत रखने को सबसे अहम बताया गया।


Comments