कुछ राजनीतिक दल किसान आंदोलन के नाम पर अपनी रोटियां सेंकने का कार्य कर रहे-चैहान

 

हरिद्वार। भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश महामंत्री योगेश चैहान ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानून देश के किसानों के हित में उठाया गया बड़ा कदम है। बावजूद इसके कुछ राजनीतिक दल किसान आंदोलन के नाम पर किसानों को बहलाकर अपनी राजनीतिक रोटियां सेकने का काम कर रहे हैं, लेकिन वे अपने मंसूबों में कभी कामयाब नहीं हो सकेंगे। किसान धीरे-धीरे इस बात को समझने लगा है। रविवार को जिला भाजपा कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पारित जो कृषि कानून पूरी तरह किसान हितैषी हैं। कुछ राजनीतिक पार्टियां इस बिल का विरोध कर रही हैं वह नहीं चाहती कि किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार हो। क्योंकि इस बिल के आने से मोदी सरकार के किसानों की आय दुगनी करने के संकल्प में यह बिल मील का पत्थर साबित होगा। इस बिल से बिचैलियों का खात्मा होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने भी कहा है कि भविष्य में सरकार फसल बुवाई के समय ही एमएसपी तय करेगी और अनुबंध खेती के तहत किसान यदि चाहे तो अपनी फसल बाजार भाव पर भी बेच सकता है। अनुबंध केवल फसल का होगा जमीन का नहीं। कोई भी कंपनी किसान की जमीन पर लोन नहीं ले सकेगी। मंडिया खत्म नहीं होंगी, अपितु किसान अपनी फसल पूरे देश में कहीं भी बाजार में जाकर बेच सकता है। प्रदेश उपाध्यक्ष ऋषिपाल बालियान ने कहा कि किसानों की मांगों के अनुरूप प्रधानमंत्री ने किसानों को न केवल एसडीएम कोर्ट बल्कि सिविल कोर्ट में भी जाने का अधिकार दिया है। प्रदेश उपाध्यक्ष देवी सिंह राणा ने कहा कि इस बिल में प्रधानमंत्री के द्वारा देखा गया सपना 2022 तक किसानों की आय दोगुनी होने के रूप में यह बिल मील का पत्थर साबित होगा। प्रदेश मंत्री सूर्यवीर मलिक ने कहा कि खेती में इस बिल के द्वारा क्रांतिकारी बदलाव होंगे। इस दौरान जिला कार्यालय प्रभारी लव शर्मा, दीपांशु, कमल प्रधान, पार्षद विकास कुमार उपस्थित रहे।


Comments