ब्रह्मपुरी के स्थानीय लोगों ने रेलवे प्रशासन के खिलाफ किया प्रदर्शन

 हरिद्वार। ब्रहमपुरी से अपर रोड़ तक आने का रास्ता बंद करने पहुंचे रेलवे कर्मचारी और ठेकेदार को मौके से भगा दिया। ब्रह्मपुरी के लोगों ने रेलवे द्वारा रास्ता बंद करने पर नाराजगी जताई है। दरअसल ब्रहमपुरी से अपर रोड़ तक आने के लिए पहले रेल पटरी के उपर एक लोहे का पुल बना हुआ था,जिसे रेलवे की ओर से तोड़ दिया गया। इसके बाद लोगों द्वारा पैदल ही पटरी पार करके शहर की तरफ आना जाना हो रहा था,उसे भी रेलवे की ओर से बन्द करने पहुंचे रेलवे के कर्मचारी और ठेकेदार को मौके पर देखा तो आसपास के लोगों ने विरोध किया। लोगों का कहना है कि यह कई वर्षों पुराना रास्ता है।  जिसे आपर ऐसे बंद नहीं कर सकते। लोगों का कहना था कि रास्ता बन्द होने से लोग शहर की ओर जाने के लिए काफी लम्बा घुम कर जाना पड़ेगा और समय भी ज्यादा लगेगा। मौके पर पहले एक लोहे का पुल बना हुआ था,जिसे पिछले दिनों रेलवे ने तोड़ दिया। पुल टूटने से लोगों को वैसे ही निकलने काफी दिक्कत होती है और अब जो दस्ता पटरी से निकलता है उसको भी अब रेल कर्मचारियों द्वारा बंद किया जा रहा है। रविवार को ब्रह्मपुरी के लोगो ने जब रेल कर्मचारियों द्वारा रास्ता बंद करते देखा तो आसपास के लोगों की मौके पर भीड़ जमा हो गई। लोगों की भीड़ ने रेल के कर्मचारियों और ठेकेदार को काम बंद करने से रोक दिया। लोगों का कहना है कि जब तक हमें रेलवे कोई अस्थाई रास्ता बनाकर नहीं दे देते तब तक हम रास्ता बंद नहीं होने देंगे। हंगामें की सूचना पाकर मौके पर मेयर पति अशोक शर्मा पहुंचे और लोगों की समस्या सुनने के बाद ठेकेदार को फोन करके बुलाया। उन्होने कहा जब तक कि ब्रह्मपुरी की जनता की समस्या का समाधान नहीं होता जब तक कि आप इस रास्ते को बिल्कुल भी बंद नहीं करेंगे। बंद करने से पहले इतनी बड़ी आबादी को कोई रास्ता बना कर दे या फिर जो पहले पुल टूटा था उस पुल को दोबारा से बना कर दिया जाए। पुल बनने की सूरत में ही आगे कार्य करने देंगे नहीं तो हम इस रास्ते को किसी भी कीमत पर बंद नहीं करने देंगे। कहा कि रास्ते से हजारों लोगो का आना जाना लगा रहता है। रास्ता कई वर्षों पुराना है इस रास्ते को आप ऐसे बंद नहीं कर सकते।