ऋषि मुनियों की सोच को विश्व में आगे बढ़ा रहे हैं बाबा रामदेव- स्वामी हरिचेतनानन्द

 हरिद्वार। हरिसेवा आश्रम के परमाध्यक्ष महामंडलेश्वर हरिचेतनानन्द महाराज से मिलने पहुँचे योग गुरु बाबा रामदेव ने आश्रम पहुचकर शिष्टाचार मुलाकात की। इस दौरान उन्होने कहा कि भारत ऋषि-मुनियों की तप स्थली है और रहेगी। महामंडलेश्वर हरिचेतनानन्द महाराज संत महात्माओं की परंपरा को बढ़ाने में अग्रसर हैं। वे लोगों को गो गंगा गीता के प्रति जागरूक कर भारत की युवा पीढ़ी को भारतीय संस्कृति की और आकर्षित कर सनातन धर्म का संरक्षण संवर्धन करने में जुटे हुए हैं। महामंडलेश्वर हरिचेतनानन्द महाराज ने कहा कि योग गुरु बाबा रामदेव ने भारत ही नहीं अपितु विश्व में योग और आयुर्वेद के माध्यम से भारत के ऋषि-मुनियों और संतों का नाम ऊंचा किया है। बाबा रामदेव ने भारत को योग मे एक अलग पहचान दिलाने का काम भी किया है। बाबा रामदेव भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत की सोच को योग व आयुर्वेद के माध्यम से निरंतर आगे बढ़ा रहे है। उन्होंने लाखों लोगों को स्वदेशी, योग और आयुर्वेद के माध्यम से रोजगार देकर बेरोजगारी से निकाल कर आत्मनिर्भर बनाया है। बाबा रामदेव ऋषि मुनियों की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए देश का नाम रोशन कर रहे है। कुम्भ समय और परिस्थिति पर निर्भर करता है। इस मौके पर महंत केशवानंद भी मौजूद रहे।



Comments