कांग्रेस नेताओं ने एसएसपी से मांग सड़क जाम करने के मामले में दर्ज मुकदमा वापस हो

हरिद्वार। कांग्रेस नेताओं ने रविवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर सड़क जाम करने के मामले में दर्ज मुकदमे वापस लेने की मांग की है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि स्थानीय लोगों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मासूम बच्ची के साथ घटित घटना को लेकर रोष व्याप्त किया था। रविवार को एसएसपी से मुलाकात के दौरान कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रकाश जोशी ने कहा कि हरिद्वार में मासूम बच्ची के साथ हुई अप्रिय घटना में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर घटना को खोल दिया है। पुलिस बधाई की पात्र है। लेकिन जब इस तरह की घटना घटती है, उसमें स्थानीय लोग अपनी भावनाएं अलग-अलग तरह से प्रकट करते हैं। चाहे वह कैंडल मार्च निकालें या कुछ समय के लिए ट्रैफिक रोक दें। यह उनका लोकतांत्रिक अधिकार है। भाजपा के दबाव में आकर हरिद्वार पुलिस ने 703 कांग्रेस कार्यकर्ता और स्थानीय लोगों पर मुकदमे दर्ज किए हैं। यह कांग्रेस को स्वीकार नहीं है। स्थानीय लोगों पर पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई से अपराधियों के हौसले बुलंद होंगे। इसी परिस्थितियों में कोई भी व्यक्ति किसी भी पीड़ित के साथ खड़े नहीं होंगे। अगर पुलिस प्रशासन द्वारा मुकदमे वापस नहीं गए जाते तो जनता को साथ लेकर कांग्रेस बड़े स्तर पर आंदोलन करेगी। एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्ण राजएस ने कहा कि मुकदमों में तफ्तीश चल रही है। उसके आधार पर ही आगे की कार्रवाई मुकदमे वापस शासन स्तर पर ही वापस हो सकते हैं। इस दौरान पूर्व विधायक अमरीश कुमार, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी, पूर्व दर्जाधारी किरणपाल वाल्मीकि, जिला पंचायत उपाध्यक्ष राव आफाक, युवा जिलाध्यक्ष कांग्रेस रवि बहादुर, अनिल भास्कर, अरविंद शर्मा, हिमांशु बहुगुणा, सुमित, पूनम भगत, यशवंत सैनी, राजबीर चैहान महामंत्री इंटक भेल, महावीर वशिष्ठ, रविश भटीजा, मनोज जाटव, सीपी सिंह, सन्नी, लक्की, सुन्दर मनवाल, हरद्वारी लाल, कैश खुराना, शुभम जोशी आदि सहित सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद आदि कार्यकर्ता मौजूद थे।