मेलाधिकारी ने अधिकारियों के साथ किया मेला क्षेत्र का भ्रमण,दिए निर्देश

हरिद्वार। कुंभ मेले को दिव्य, भव्य रूप से कराने के लिए कराए जा रहे कार्यों को समय से पूरा कराने के लिए शनिवार को कुंभ मेलाधिकारी दीपक रावत व आईजी मेला संजय गुंज्याल के साथ अस्थाई पुलों का निरक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि भीड़ नियंत्रण और जाने और आने के लिए अलग अलग अस्थाई पुल बन रहे हैं। रैंप भी बनाया जाएगा। कुंभ स्नान में श्रद्धालुओं को कोई दिक्कत न हो इसके लिए अविरल धारा बने रहने और दीनदयाल पार्किंग से आस्थापथ में जाने का मार्ग सुगम करने का निर्देश दिया। आस्थापथ के निकट घाट के सौंदर्यीकरण करने,दिव्यागों के सुविधा और सुरक्षा का ध्यान रखने जा निर्देश अधिकारियों ने दिया। कहा हाईवे और चंडी टापू को जोड़ने के पुल बनाया जाएगा। मेलाधिकारी दीपक रावत ने हर दिन कार्य योजना के डेट लाईन फिक्स करने का निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान आस्थापथ निर्माण कार्य मे देरी पर कड़ी नाराजगी जताते हुए हर हाल में कार्य को समयसीमा में पूरा करने की हिदायत दी। कुम्भ मेला करवेज के लिए मीडिया सेंटर स्थल का निरीक्षण भी किया। मेलाधिकारी ने कहा कुंभ को निर्विघ्न और सुगमतापूर्वक कराना हमारी प्राथमिकता और जिम्मेदारी है, इसमें कतई लापरवाही नहीं होनी चाहिए। मेलाधिकारी दीपक रावत और आईजी मेला संजय गुंज्याल ने निरीक्षण में कहा कि चंडी टापू में जाने आने के लिये मेला भवन के समीप और लाल जी वाला से अलग वनवे मार्ग रखा जाए जिससे भीड़ नियंत्रण हो सके। हरकी पैड़ी के समीप विभिन्न घाटों के सुरक्षा के मद्देनजर भी  निर्देश दिए गए। निरीक्षण के दौरान अपर मेला अधिकारी हरबीर सिंह, उप मेलाधिकारी दयानंद, सीओ मेला प्रकाश देवली, अधीक्षण अभियंता तकनीकी सेल हरीश पांगती के अलावा लोकनिर्माण व सिंचाई विभाग के अधिकारी,नोडल अधिकारी मीडिया मनोज श्रीवास्तव भी मौजूद रहे।