विवाद के बाद किसान ने जहर खाकर दे दी जान,सुसाइड नोट में दो आरोपित,पुलिस जांच में जुटी

 हरिद्वार। आपसी विवाद के बाद पथरी क्षेत्र के नई कुंडी गांव में एक किसान ने आहत होकर आत्महत्या कर ली। पुलिस की माने तो किसान पर समझौते का दबाव बनाने की बात भी सामने आ रही है। उसने सुसाइड नोट में दो आरोपितों को मौत का जिम्मेदार ठहराया है। बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद शव लेकर लौट रहे परिवार वालों ने फेरुपुर पुलिस चैकी पर हंगामा किया। बाद में थानाध्यक्ष सुखपाल मान की ओर से कार्रवाई का आश्वासन मिलने पर ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ। मामले में पुलिस आरोपितों की तलाश में जुटी है। पथरी पुलिस के अनुसार नई कुंडी निवासी मांगेराम पर गांव के ही रहने वाले सुखविदर और नीटू ने पंचायत चुनाव में किसी प्रत्याशी से 10 हजार रुपये लेने का आरोप लगाया था। इसी बात को लेकर उनके बीच कहासुनी और फिर मारपीट हो गई थी। मांगेराम ने आरोपित सुखविदर और नीटू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। आरोपितों को जब मुकदमे की जानकारी हुई तो वह मांगेराम पर समझौते का दबाव बनाने लगे। मंगलवार देर शाम पीड़ित मांगेराम ने पड़ोसी गांव पुरानी कुंडी में एक खेत के टयूबवेल पर जहर खाकर जान दे दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव कब्जे में ले लिया। मांगेराम की जेब से पुलिस को एक सुसाइड मिला। इसमें उसने नीटू और सुखविद को मौत का जिम्मेदार ठहराते हुए आहत होकर जान देने की बात लिखी थी। वहीं, बुधवार की सुबह जिला अस्पताल से पोस्टमार्टम के बाद शव लेकर गांव लौट रहे मांगेराम के स्वजन और ग्रामीण फेरुपुर पुलिस चैकी पर रुक गए। उन्होंने आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा किया। इस दौरान कुछ युवकों ने जाम लगाने का प्रयास भी किया। पथरी थानाध्यक्ष सुखपाल मान ने गुस्साए ग्रामीणों को समझाते हुए जल्द गिरफ्तारी का भरोसा दिलाया। काफी देर हंगामे के बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए गांव ले जाया गया। एसओ सुखपाल मान ने बताया कि मुकदमे में आत्महत्या के लिए उकसाने की धाराएं बढ़ा दी गई हैं। आरोपित नीटू और सुखविदर की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।