भाजपा के इशारे पर सफाई व्यवस्था बदहाल कर बदनाम करने का प्रयास- मेयर

 हरिद्वार। मेयर अनिता शर्मा ने कहा कि उन्हें बदनाम करने के लिए भाजपा के इशारे पर अधिकारी शहर को गंदगी में धकेलने का काम कर रहे हैं। सफाई व्यवस्था बदहाल होती जा रही है। लेकिन अधिकारी सफाई के बारे में बात तक सुनने को तैयार नहीं है। मेयर ने प्रेस को जारी बयान में कहा कि उन्होंने अपने छह लाख तक के वित्तीय अधिकार से पैसा सफाई व्यवस्था के संसाधन खरीदने के लिए अधिकारियों को कहा था। लेकिन अधिकारी मंत्री के दबाव में सफाई व्यवस्था जानबूझकर चैपट करना चाह रहे हैं, ताकि उन्हें बदनाम कर सकें। उन्होंने कहा कि जब अधिकारियों से सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए कहा जा रहा है तो वह संसाधन न होने की बात कह रहे हैं। 18 दिन में भी केआरएल से वाहन व अन्य संसाधन कब्जे में नहीं ले सके। इससे साफ जाहिर हो रहा है जान बूझकर ये सब किया जा रहा है। मेयर प्रतिनिधि अशोक शर्मा ने कहा कि अधिकारी संसाधन के लिए बोर्ड बैठक की बात कहकर पल्ला झाड़ रहे हैं। जबकि बिना बोर्ड बैठक के फर्नीचर, रंगाई, सड़क कार्यों में पैसा खर्च कर सकते हैं। लेकिन शहर से कूड़ा उठाने के लिए बोर्ड में बोर्ड जरुरी हो गई। उन्होंने कहा कि राजनीति के चक्कर में शहर के लोगों को गंदगी के कारण परेशान न किया जाए। अधिकारियों को अपनी कार्यशैली में सुधार करना चाहिए। अधिकारी अपनी करतूतों से मेयर को बदनाम करना चाहते हैं।