22 लाख रुपये लूटने की घटना का कोटद्वार में पर्दाफाश

 हरिद्वार: कनखल में शराब कारोबारी के मैनेजर को गोली मारकर 22 लाख रुपये लूटने की घटना का कोटद्वार में पर्दाफाश हो गया। बदमाशों ने स्वीकार किया है कि उन्होंने सिडकुल में काम करने वाले अंकित पुंडीर के कहने पर लूट को अंजाम दिया था। हरिद्वार की पुलिस अब कोटद्वार से बदमाशों को बी वारंट पर लाने और फरार अंकित की तलाश में जुट गई है 1 कनखल में बीते सितंबर माह में शराब कारोबारी सागर जायसवाल के मैनेजर गयापाल को तीन बदमाशों ने गोली मारकर 22 लाख रुपये लूट लिए थे। पुलिस तभी से बदमाशों की तलाश में जुटी थी। इस बीच कोटद्वार के सिताबपुर तल्ला में कुछ बदमाशों ने एक डकैती को अंजाम दिया। बदमाशों की आखिरी लोकेशन भी हरिद्वार में उस जगह पाई गई, जहां कनखल में 22 लाख की लूट के बाद बदमाशों को आखिरी बार देखा गया था। इससे यह संभावना बलवती हो गई कि कनखल और कोटद्वार में हुई लूट व डकैती में एक ही गिरोह का हाथ है। तभी कनखल थाने के उपनिरीक्षक चंद्रमोहन सिंह के नेतृत्व में कांस्टेबल पंकज शर्मा, गोपी पुनिया व हेमंत की टीम बदमाशों की तलाश में पश्चिमी उत्तर प्रदेश रवाना हो गई। टीम ने कई दिन पश्चिमी उत्तर प्रदेश में डेरा डाले रखा। वहीं, कोटद्वार पुलिस भी बदमाशों की तलाश में जुटी थी। आखिरकार बदमाश कोटद्वार की पुलिस व एसओजी की गिरफ्त में आ गए। इंस्पेक्टर कनखल शंकर सिंह बिष्ट ने कोटद्वार पहुंचकर बदमाशों से पूछताछ की। पूछताछ में सामने आया कि कनखल व कोटद्वार की घटना का मास्टरमाइंड अंकित हरिद्वार में सिडकुल की कंपनी में काम करता है। वह बहादराबाद क्षेत्र में किराए के मकान में रहता था। उसने ही कनखल में शराब कारोबारी के कर्मचारियों की रैकी कर 22 लाख की लूट का जाल बुना था। उसके साथ वारदात में दो साथी शामिल थे। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि कोटद्वार में गिरफ्तार हुए बदमाशों को बी वारंट पर हरिद्वार लाकर पूछताछ की जाएगी। फरार मास्टरमाइंड अंकित पुंडीर की तलाश जारी है।

Comments