जिला उपभोक्ता आयोग ने दिए बैंक को एक लाख 61हजार मय खर्च लौटाने के निर्देश

 हरिद्वार। जिला उपभोक्ता आयोग ने बैंक प्रबंधक को उपभोक्ता सेवा में कमी व लापरवाही बरतने का दोषी पाया है। आयोग ने दो खातों की धनराशि एक लाख 61हजार 707 रुपये छह प्रतिशत वार्षिक ब्याज की दर से,मानसिक व आर्थिक क्षतिपूर्ति पांच हजार व शिकायत खर्च और अधिवक्ता फीस तीन हजार रुपये शिकायतकर्ता महिला को अदा करने के आदेश दिए हैं शिकायतकर्ता महिला किरण पालीवाल पत्नी एनके पालीवाल निवासी मुजफ्फरनगर हाउस विष्णु घाट हरिद्वार ने प्रबन्धक स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक, नारायण मंजिल 23 बाराखंबा रोड नई दिल्ली के खिलाफ शिकायत दायर की थी ।दायर शिकायत में बताया था कि तीन जुलाई 2016 को उनके पति एनके पालीवाल की मृत्यु हो गई थी। शिकायतकर्ता महिला के पति के बचत खाते में 92,054 रुपये व फिक्स डिपॉजिट खाते में 69,652 रुपये कुल धनराशि एक लाख 61 हजार 707 रुपये जमा थी। शिकायतकर्ता महिला ने कई बार सभी औपचारिकताएं पूरी कर उक्त बैंक खातों की धनराशि क्लेम लेने के लिए आवेदन किया था।लेकिन बैंक कर्मचारी किसी न किसी बहाने से उक्त फार्म लौटाने व चक्कर काटने पर भी धनराशि नही दे रहे हैं।थक हारकर शिकायतकर्ता महिला ने उपभोक्ता आयोग की शरण ली थी।


Comments