पतंजलि योगपीठ में धूमधाम से मनाया गया देश का 72वाँ गणतंत्रा दिवस

 हरिद्वार।  72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर पतंजलि योगपीठ में स्वामी रामदेव एवं आचार्य बालकृष्ण ने ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर स्वामी रामदेव महाराज ने कहा कि पंतजलि का संकल्प है कि शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में योग अनिवार्य हो। इस दिशा में कानूनी प्रबंधन जब बनेंगे, तब बनेंगे मगर हमें योग से ही शुरुआत करनी होगी। अपने जीवन में योग को अनिवार्य करना होगा। स्वामी रामदेव महाराज ने कहा कि पतंजलि ने शपथ ली है कि ड्रग माफियाओं की लूट और षड़यंत्र से इस देश का हमें बचाना है और योग, आयुर्वेद व प्राकृतिक चिकित्सा को स्वदेशी का विकल्प देकर भारत को आत्मनिर्भर बनाना है। हम उनके ऋणि हैं जिन्होंने हमें खुली हवा में श्वास लेने का अवसर प्रदान किया।  उनको याद करते हुए प्रतिज्ञा लें कि हम जहाँ जिस रूप में भी सेवा प्रदान कर रहे हैं वहाँ पूरी निष्ठा, श्रद्धा, भावना, मर्यादा व व्यवस्था के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करें। स्वामी रामदेव महाराज तथा आचार्य बालकृण महाराज ने मुस्लिम भाईयों के साथ गुब्बारों का एक गुच्छ आकाश में उड़ाकर गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ दी। आचार्यकुलम् व गुरुकुलम् के छात्र-छात्राओं ने परेड़ निकालकर एवं संास्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन कर उपस्थित जनसमूह का मन मोह लिया। कार्यक्रम में पतंजलि विश्वविद्यालय सहित सम्बद्ध इकाईयों के इकाई प्रमुख, अधिकारीगण व प्राध्यापकगण उपस्थित रहे।


Comments