लूट का मामला निकला फर्जी,आपसी विवाद में रची साजिश,चार गिरफ्रतार

हरिद्वार। थाना कनखल क्षेत्र में प्रॉपर्टी डीलर और फाइनेंसर से लूट के मामले में पुलिस ने स्टेशनरी कारोबार से जुड़े एक युवक समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है। बताया जाता है कि प्रॉपर्टी डीलर का पड़ोस में अक्सर कूड़ा और मलबा डालने को लेकर पड़ोसियों से विवाद होता था। पड़ोसियों के होने वाले दामाद ने हमले की साजिश रची थी। गौरतलब है कि 9 जनवरी की रात को कनखल फुटबाल ग्राउंड निवासी प्रॉपर्टी डीलर विकास गर्ग पर कृष्णानगर पुलिस के पास शक्तिनगर पहुंचते ही हमला कर दिया था। तीन हमलावरों ने लाठी डंडों से विकास पर हमला किया और फरार हो गए। विकास ने कनखल पुलिस में मुकदमा दर्ज कर आरोप लगाया कि तीन लोगों ने उसके साथ मारपीट की और इस दौरान उसकी जेब से 1.50 लाख की नगदी गायब हो गई। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की तो मालूम हुआ कि उसी दिन विकास का अपने पड़ोसियों के साथ मलबा डालने को लेकर विवाद हुआ था। पड़ोसियों से विवाद होने के कारण मौके उनका दामाद चिरायु भार्गव भी आ गया था। दोनों के बीच गहमागहमी हुई। आरोप है कि इसके बाद से चिरायु प्रॉपर्टी डीलर से खुन्नस रखने लगा और चिरायु ने हमला करने की साजिश रची। चिरायु ने अपने साथ मोनू सिंह उर्फ मोनू गुर्जर पुत्र अंचल सिंह निवासी देवबंद सहारनपुर हाल निवासी राज विहार जगजीतपुर, हिमांशु चैधरी उर्फ बिट्टू, निवासी कनखल और अरविंद चैधरी पुत्र विजेंद्र चैधरी निवासी मुरादाबाद, हाल निवासी राज विहार जगजीतपुर के जरिए प्रॉपर्टी डीलर पर हमला कराया। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज और अन्य सबूतों के आधार पर बुधवार को चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी चिरायु का स्टेशनरी का कारोबार है। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि चारों को गिरफ्तार कर लिया गया है।