सफाई मजदूर समिति ने मेला प्रशासन पर लगाया अनदेखी का आरोप

 

हरिद्वार। कुंभ मेला सफाई मजदूर समिति ने कुंभ मेला प्रशासन पर सफाई कर्मचारियों की अनदेखी का आरोप लगाया है। सफाई मजदूर नेताओं राजेंद्र चैटेला, अशोक तेश्वर, नरेश चनयाना, राजेश छाछर आदि का कहना है कि मेला सिर पर है। जिसमें एक मकर सक्रांति संपन्न भी हो चुका है। मकर सक्रांति पर लाखों लोग गंगा स्नान के लिए हरिद्वार पहुंचे। किंतु हरिद्वार में इतनी भीड़ के बाद भी एक भी सफाई कर्मचारी को भर्ती नहीं किया गया। मकर सक्रांति के स्नान के बाद यात्रियों द्वारा छोड़े गए कूड़ा करकट को नगर निगम के कर्मचारियों से साफ कराया जा रहा है जो कि उचित नहीं है। जबकि नगर निगम के सफाई कर्मचारियों पर शहर पहले ही शहर के साठ वार्डो की सफाई की जिम्मेदारी है। श्रमिक नेताओं का कहना है कि हमेशा कुंभ मेला शुरू होने से पूर्व सफाई कर्मचारियों की भर्ती कर एक जनवरी से मेला क्षेत्र में तैनाती कर दी जाती है। जिससे पूरे मेला क्षेत्र में सफाई व्यवस्था बनी रहे। लेकिन इस बार ऐसा नहीं किया गया। मकर सक्रांति स्नान के बाद भारी मात्रा में कूड़ा करकट शहर में अभी भी पड़ा है। यदि शीघ्र ही मेला प्रशासन ने सफाई कर्मचारियों की भर्ती नहीं की, तो शहर में संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ेगा। यदि मेला प्रशासन का सफाई के प्रति ढुलमुल रवैया रहा तो कुंभ मेला समिति का प्रतिनिधिमंडल शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक से मिलकर समस्या के निराकरण हेतु वार्ता करेगा।


Comments