सत्ता के मद में चूर भाजपा नेता लगातार मर्यादाओं का उल्लंघन कर रहे-डाॅ.संजय पालीवाल

हरिद्वार,। महानगर कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भगत सिंह चैक पर प्रदर्शन कर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत का पुतला फूंका। इस दौरान प्रदेश महासचिव डा.संजय पालीवाल ने कहा कि सत्ता के मद में चूर भाजपा नेता लगातार मर्यादाओं का उल्लंघन कर रहे हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत की वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश के प्रति की गयी अपमानजनक टिप्पणी से महिलाओं के प्रति भाजपा की सोच उजागर हो गयी है। महानगर कांग्रेस अध्यक्ष संजय अग्रवाल व पूर्व विधायक अम्बरीष कुमार ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष बंशीधर भगत ने पूरी जिंदगी रामलीला में भाग लिया है और ऐसा लगता है वहां भी इन्होंने राक्षस का रोल अदा किया है। वह भाजपा में भी इसी को चरितार्थ कर रहे हैं। इंदिरा हृदयेश पर की गयी बंशीधर भगत की टिप्पणी से भाजपा का चरित्र जनता के सामने आ गया है। आने वाले चुनाव में जनता भाजपा को सबक सिखाएगी। महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष विमला पांडे व वरिष्ठ नेता नईम कुरैशी ने कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड में महिलाओं की तुलना देवीयों से की जाती है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने अपनी टिप्पणी से पूरी मातृशक्ति का अपमान किया है। मेयर अनिता शर्मा, ग्रामीण जिलाध्यक्ष धर्मपाल सिंह, श्रमिक नेता राजवीर सिंह, पूर्व सचिव महेशप्रताप राणा ने कहा कि मातृशक्ति का अपमान कतई सहन नहीं किया जाएगा। जब तक भाजपा बंशीधर भगत को प्रदेश अध्यक्ष पद से नहीं हटाती है। तब तक लगातार आंदोलन व धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। हरद्वारी लाल व पराग चाकलान ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत की मानसिक स्थिति खराब हो चुकी है। भाजपा को उनका उपचार कराना चाहिए। प्रदर्शन व पुतला दहन करने वालों में प्रदीप चैधरी, अंजू द्विवेदी, अशोक शर्मा, दिनेश वालिया, नीतू बिष्ट, यशवंत सैनी,रवि कश्यप, शैलेंद्र एडवोकेट, गुलबीर सिंह, पार्षद उदयवीर सिंह, इसरार अहमद, मेहरबान खान, राजीव भार्गव, अमन गर्ग, तहसीन अंसारी, जफर अब्बासी, अनुज सिंह के अतिरिक्त संजय शर्मा, नीलम शर्मा, शाहनवाज कुरैशी, सुनील कड़च्छ, विभास मिश्रा, प्रदीप आहूजा, बीएस तेजियान, कैलाश प्रधान, हाजी रफी खान, जितेंद्र सिंह, मनोज गिरी, रोशनी कालियान, बलराम राठौड़, मनोज जाटव, जेपी सिंह, विशाल राठौड़, जगदीप असवाल, डा.दिनेश पुंडीर, सीपी सिंह, नरेश सेमवाल, त्रिपाल शर्मा, अशोक उपाध्याय, राजेंद्र बालियान, धर्मपाल ठेकेदार, सुंदर सिंह मनवाल, अरविंद चंचल,मोहन राणा, लक्ष्मी प्रसाद, आकाश बिरला, सत्येंद्र वशिष्ठ, दिग्विजय सिंह, अनिल शर्मा, हरद्वारी लाल, राजेंद्र श्रीवास्तव, हरिशंकर प्रसाद, एलएस रावत, पराग चाकलान, अनंत पांडे, अमित राजपूत, महेंद्र सिंह, अजय दास महाराज, संदीप अग्रवाल, नवाज अब्बासी, माटू खान, अविनाश गुप्ता आदि ने भी अपने विचार प्रकट किए।