हमारी एकता एवं अखण्डता में आध्यात्मिकता का भी महत्वपूर्ण स्थान -दीपक रावत

 

हरिद्वार। गणतंत्र दिवस पर मेला अधिकारी दीपक रावत ने मेला नियंत्रण भवन में ध्वजारोहण किया। ध्वजारोहण के पश्चात मेला नियंत्रण भवन के सभागार में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन हुआ। कार्यक्रम के दौरान मेलाधिकारी ने सभी को गणतंत्र दिवस की बधाई देते हुये कहा कि हमारी एकता एवं अखण्डता में आध्यात्मिकता का भी महत्वपूर्ण स्थान है। हमारे देश को बनाने में तीर्थों का महत्वपूर्ण स्थान है। उन्होंने कहा कि कुम्भ से सम्बन्धित हमारे सभी कार्य लगभग पूर्ण होने हो हैं, जिसके पीछे भी कोई न कोई शक्ति जरूर है। उन्होंने कहा कि सनातन परम्परा को समझना ह,ै तो थ्योरी में गीता तथा प्रैक्टिस में गंगा है। उन्होंने कहा कि हम एक भव्य, दिव्य, सुरक्षित कुम्भ का सफल आयोजन करेंगे। सांस्कृतिक कार्यक्रम के अवसर पर एस0डी0एम0 कुम्भ प्रेमलाल ने ऐ मेरे वतन के लोगो....., राहुल शर्मा ने अटल बिहारी वाजपेयी की कविता, सुश्री अंजूबाला ने ओ मां तेरा जैसा कोई नहीं, अबूबकर ने असम का स्टेट सांग, उप मेलाधिकारी दयानन्द सरस्वती ने लोकगीतख् राजेश ने भी विभिन्न लोकगीतों के भावपूर्ण गाने प्रस्तुत किये। सांस्कृतिक कार्यक्रम के मंच का संचालन करते हुये डाॅ0 ललित नारायण मिश्र ने स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर उप मेला अधिकारी, अंशुल सिंह, किशन सिंह नेगी, दयानन्द सरस्वती, माया दत्त जोशी, डिप्टी कलेक्टर, विशेष कार्याधिकारी, कुम्भ मेला, महेश शर्मा, तहसीलदार मंजीत सिंह सहित अधिकारीगण एवं कार्मिक मौजूद थे।


Comments