स्नान पर्व समाप्ति के बाद मेला आईजी ने अधिकारियों व पुलिस बलो से लिया फीडबेैक

हरिद्वार। मकर संक्रान्ति स्नान पर्व सकुशल सम्पन्न होने के बाद 40 वीं वाहिनी पीएसी के सभागार में मेला आईजी संजय गुंज्याल ने डिब्रीफिंग के दौरान उपस्थित सभी अधिकारियों एवं पुलिस के जवानों से ड्यूटी के दौरान हुए उनके अनुभव के अनुसार सुझाव और फीड बैक मांगे गए ताकि उपयोगी सुझावों को अगले स्नान की व्यवस्थाओं में सम्मिलित करके और अधिक उत्तम पुलिस व्यवस्था बनाई जा सके। आईजी कुम्भ द्वारा भविष्य के स्नान पर्वों में प्राप्त उक्त महत्वपूर्ण और उपयोगी सुझावों पर अमल करने हेतु धरातल पर ठोस तैयारी करने के लिये सम्बंधित को डिब्रीफिंग में ही निर्देशित किया गया। इसके बाद आईजी मेला द्वारा उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि कुम्भ का अनुभवी अधिकारी एक दिन पेशवाई और शाही स्नान रुट दिखाने के लिये सभी सम्बंधित अधिकारीगण की मॉर्निंग वॉक की कार्यवाही कराएंगे ताकि सभी को पेशवाई और शाही स्नान के रूट का धरातलीय अनुभव हो सके। स्टेशन के अंदर ही ट्रेन का इंतजार कर रहे लोगों के लिये होल्डिंग एरिया बनाये। भीड़ का दबाव बढ़ जाने पर शटल ट्रेनों के माध्यम से यात्रियों को हरिद्वार और ज्वालापुर रेलवे स्टेशन से बैठा कर बाहर के स्टेशनों पर छोड़ने की कार्यवाही की जाए। इसके अलावा यात्रियों को हरिद्वार रेलवे स्टेशन के अलावा मोतीचूर और ज्वालापुर रेलवे स्टेशनों से भी ट्रेन पकड़ने के लिये प्रोत्साहित किया जाए। कुम्भ के लिये रजिस्ट्रेशन फार्म में दिव्यांगों के लिये अलग व्यवस्था की जाए ताकि उनके लिये विशेष व्यवस्था बनाई जा सके। साथ ही साथ कुम्भ मेले के दौरान अपनी सेवाएं देने के इच्छुक अलग-अलग संस्थाओं के लगभग 15 हजार वोलियेन्टर से जनसेवा के कार्य लेने के लिये कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त आईजी कुम्भ के द्वारा मकर संक्रांति के स्नान को सफल, सुरक्षित बनाने के लिये ड्यूटीरत सभी अधिकारी-कर्मचारियों को उत्तम प्रविष्टि प्रदान करने और हर सेक्टर से अच्छी ड्यूटी करने वाले कार्मिकों को नकद पुरस्कार से पुरुस्कृत करने की घोषणा भी की। इस दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार,सेंथिल अबुदाई राज कृष्ण एस,मेला एसएसपी जन्मजेय खंडूरी सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।