रोजगार की तलाश के बजाए रोजगारप्रदाता की सोच के साथ युवा आगे बढ़े-त्रिवेन्द्र सिंह रावत

 स्वामी विवेकानंद जयन्ती पर मुख्यमंत्री ने युवाओं से किया संवाद

हरिद्वार। स्वामी विवेकानंद की 158 वीं जयंती को प्रदेश भर में युवा चेतना दिवस के रूप में मनाया गया। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने  प्रदेश भर में युवा चेतना दिवस के दिन प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों के साथ वीडियो काॅन्फंे्रसिंग के माध्यम से जुड़कर जिलाधिकारी कार्यालय में आमंत्रित युवा उद्यमियों, टाॅपर्स छात्रों व स्वंय सहायता समूहों, युवा मंगल दलों के युवाओं के साथ सीधा संवाद स्थापित किया। इस अवसर पर रोशनाबाद वीसी कक्ष के माध्यम से अपर जिलाधिकारी केके मिश्र ने उपस्थित युवाओं के बारे में मुख्यमंत्री को अवगत कराया और युवाओं ने मुख्यमंत्री से अपने विचार साझा किये। हरिद्वार से कुल 20 युवक युवतियों का चयन संवाद के लिए किया गया था। समय अभाव के कारण सभी युवा संवाद नहीं कर सके। आकाश, रोहित रावत, आकाश कुमार, प्राची, डा. स्वाती, मिनाक्षी पनेरू, कुमारी आरती गोस्वामी, अल्का, यश, रूबी शर्मा, कुमारी आस्था, श्रीमती हेमा जोशी, हर्षित पाल, रोहन, गौतम खट्टर, अक्षि गौड़, वाजिद अली, नीरज कुमार, निहारिका सिंह, अर्पित त्रिपाठी ने कार्यक्रम में प्रतिभगिता निभाई। ऋषिकुल आयुर्वेद काॅलेज की टाॅपर छात्रा मिनाक्षी, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन से लाभान्वित युवा उद्यमी यश तथा स्वंय सहायता समूह बना कर उद्यमी और रोजगार प्रदाता बनी रूबी शर्मा ने अपने उद्गार मुख्यमंत्री के समक्ष रखे। इस अवसर पर मुख्यंमत्री ने सभी युवाओ को भारतीय संस्कृति के संवाहक तथा दुनिया को भारतीय संस्कृति की पहचान कराने वाले युवा साधक स्वामी विवेकानंद की जयंती की शुभकामनायें दी। उन्होंने कहा कि युवाओं के विचारों और उद्गारों से स्पष्ट है कि सभी उर्जावान और एक नये विजन के साथ बढ़ रहे हैं। उन्होने युवाओं को नौकरियों की तलाश करने के बजाय रोजगार प्रदाता की सोच के साथ आगे बढ़कर राज्य के विकास में अहम भूमिका निभाने की बात कही। उन्होंने कहा कि अलग-अलग क्षेत्रों में राज्य में अपने संसाधनो का उपयोग कर आगे बढ़ सकते हैं। उन्होंने जिलाधिकारियों से भी कहा कि युवाओं के बनी सभी सरकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार गांव-गांव तक हो। इसके लिए सोशल मीडिया का भी प्रयोग किया जाये। युवाओं को स्वरोजगार या अन्य कहीं आ रही बाधाओं के लिए मुख्यमंत्री हेल्पलाइन का अधिक से अधिक प्रयोग करने को कहा। उन्होंने कहा कि आपकी समस्याओं का समाधान होने तक आपकी शिकायत का निस्तारण नहीं समझा जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं की सरकार से अपेक्षा, समाधान और सुझावों के लिए युवाओं के लिए शीघ्र ही राज्य में युवा आयोग का गठन किया जायेगा। कार्यक्रम में आमंत्रित युवाओं को अपर जिलाधिकारी केके मिश्र, जिला युवा कल्याण अधिकारी वरद जोशी, जिला समाज कल्याण अधिकारी नरेेंद्र यादव ने शाॅल औढ़ाकर सम्मानित किया।