स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज के निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामण्डलेश्वर बनने के निर्णय का संतों ने किया स्वागत

 हरिद्वार। दक्षिणकाली पीठाधीश्वर स्वामी कैलाशानंद ब्रहमचारी के निरंजनी अखाड़े का आचार्य महामण्डलेश्वर बनने पर संत समाज ने उन्हें शुभकामनाएं देते उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है। निरंजनी अखाड़े के वरिष्ठ महामण्डलेश्वर स्वामी सोमेश्वरानन्द गिरी महाराज ने कहा कि निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य म.म.स्वामी कैलाशानंद गिरी एक विद्वान महापुरूष हैं। उनके नेतृत्व में अखाड़ा उन्नति की ओर अग्रसर होगा। अखाड़े की परम्पराओं का निर्वहन करते हुए आचार्य म.म.स्वामी कैलाशानंद गिरी निरंजनी अखाड़े का मान बढ़ाएंगे। श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के कुंभ मेला प्रभारी मुखिया महंत दुर्गादास महाराज ने कहा कि सनातन धर्म के प्रकाण्ड विद्वान निरंजनी अखाड़े के आचार्य म.म.स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज संत परम्पराओं को नए आयाम देंगे। उनके नेतृत्व में निरंजनी अखाड़ा सनातन धर्म व सनातन संस्कृति के प्रचार प्रसार में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा। श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के कोठारी महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने कहा कि स्वामी कैलाशानंद गिरी के कुशल नेतृत्व व उत्तम व्यवहार से पूरा संत समाज परिचित है। उनके निंरजनी अखाड़े के आचार्य म.म.पद पर विराजमान होने से अखाड़े को मजबूती मिलेगी। श्री पंचायती अखाड़ा निरंजनी के सचिव श्रीमहंत रामरतन गिरी महाराज एवं महंत गंगा गिरी महाराज ने कहा कि सन्यास परम्परा में आचार्य महामण्डलेश्वर का पद एक अहम स्थान रखता है। योग्य संत को ही इस पद पर अभिषिक्त किया जाता है। आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज अपने तप व विद्वता के माध्यम से सनातन धर्म का प्रचार प्रसार कर नए आयाम स्थापित करेंगे। संपूर्ण संत समाज ऐसी कामना करता है। आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज को आचार्य म.म.स्वामी बालकानन्द गिरी महाराज, निर्मल पीठाधीश्वर श्रीमहंत ज्ञानदेव सिंह महाराज, म.म.स्वामी हरिचेतनानन्द, श्रीमहंत रविन्द्रपुरी, बाबा हठयोगी, सतपाल ब्रह्मचारी, महंत रोहित गिरी, महंत प्रह्लाद दास, श्रीमहंत लखन गिरी, महंत नरेश गिरी, महंत मनीष भारती, महंत ओंकार गिरी, स्वामी निरजानंद सरस्वती, स्वामी रघुवन, स्वामी ऋषिश्वरानन्द, महंत दुर्गादास, श्रीमहंत विनोद गिरी, श्रीमहंत साधनानंद, आह्वान अखाड़े के राष्ट्रीय महामंत्री श्रीमहंत सत्यगिरी, जयराम पीठाधीश्वर स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी, महंत दामोदरदास, महंत निर्मलदास आदि संतों के अलावा एसएमजेएन कालेज के प्राचार्य डा.सुनील बत्रा व अनेक गणमान्य लोगों ने भी शुभकामनाएं दी। 


Comments