केन्द्रीय शिक्षामंत्री ने रेल हादसे के पीडितों से मिलकर दी सात्वंना

 हरिद्वार। केंद्रीय शिक्षा मंत्री सह हरिद्वार सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने रविवार को सीतापुर पहुचकर रेल से कटने वाले पीड़ित परिवारों से बातचीत कर उन्हें सांत्वना दी। ज्ञात रहे कि चार दिन पूर्व हरिद्वार लक्सर रेलमार्ग के दोहरीकरण के बाद ट्रेन के ट्रायल के दौरान जमालपुर रेलवे फाटक से कुछ दुरी पर सीतापुर में ट्रेन की चपेट में आने से चार युवकों की मौत हो गई थी। रविवार को पीड़ितों के घर पहुचे केन्द्रीय मंत्री डॉ निशंक ने घटना पर दुख प्रकट करते हुए मामले में निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया। उन्होने कहा कि घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के साथ ही रेल मंत्रालय भी जांच कर रहा है। आश्वासन दिया कि जांच रिपोर्ट के बाद मामले में कार्रवाई की जाएगी। डाॅ0 निशंक ने चारों युवकों के परिवारजनों से हादसे की पूरी जानकारी ली। परिजनों ने बताया कि महीनों पहले रेलवे ट्रैक बिछा दिया गया था। ग्रामीण सुबह शाम ट्रैक पर टहलने को निकलते थे। रेलवे ने बगैर किसी सूचना के ट्रायल के नाम पर ट्रैक पर रेल 120 किलोमीटर की गति से दौड़ा दी। हादसे की जानकारी लेने के बाद डाॅ0 निशंक ने कहा कि जैसे ही उन्हें इसकी जानकारी मिली उसी दौरान उन्होंने दिल्ली रेलवे मंत्रालय फोन करके जांच को कहा था। केंद्रीय मंत्री ने घटनास्थल का भी निरीक्षण कर ग्रामीणों से सारी जानकारी ली। इस दौरान ग्रामीणों ने केंद्रीय मंत्री निशंक से मांग करते हुए कहा कि रेल ट्रैक के दोनों ओर सुरक्षा दीवार बनाई जाए। साथ ही घंटों के जाम से निजात पाने के लिए अंडरपास बनाने की मांग की। निशंक ने कहा कि इस मामले में वे दिल्ली जाकर रेल मंत्री से बातचीत कर इसका समाधान कराएंगे। डाॅ0निशंक के साथ विधायक आदेश चैहान, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ जयपाल चैहान, सांसद प्रतिनिधि ओउम प्रकाश जमदग्नि, राज्यमंत्री संजय सहगल, भाजपा नेता पंकज सहगल और आशु चैधरी आदि  मौजूद रहे।


Comments