सड़क सुरक्षा के लिए निर्माण विभागों में बेहतर समन्वय हो-नरेश बंसल

सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में दिए सांसद ने दिए सड़क सुरक्षा समन्वय समिति के गठन पर जोर

 हरिद्वार। सांसद राज्यसभा नरेश बंसल ने सड़क सुरक्षा समिति, हरिद्वार की विशेष बैठक सीसीआर सभागार में ली। बैठक में जिलाधिकारी सी0 रविशंकर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबुदई सहित परिवहन विभाग व समस्त निर्माण विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे। आईआईटी रूड़की के पूर्व प्रो. श्री कठियार ने सड़क सुरक्षा के उपायों पर प्रयोगात्मक बिन्दुओं पर कार्य करने के लिए एक प्रजेंटेशन भी बैठक में दी। जिलाधिकारी ने सड़क सुरक्षा के लिए जनपद में पुलिस तथा परिवहन विभाग की कार्ययोजना से सांसद को अवगत कराया। डीएम ने जनपद के अन्तर्गत सड़क सुरक्षा क्रिया-कलापों एवं सड़क दुर्घटनाआंे के आंकड़ों की निगरानी, जनपद में वर्ष 2020 में वाहन दुर्घटनाओं का तुलनात्मक विवरण, सड़क दुर्घटना के कारण तथा उन के निवारण के उपायों, जनपद के अन्तर्गत वर्ष 2020 में घटित वाहन दुर्घटनाओं का वाहन वार, तुलनात्मक विवरण, जनपद के अन्तर्गत चिन्हित ब्लैक स्पाॅट व अन्य दुर्घटना संभावित स्थलों के सुधारीकरण की कार्यवाही, ओवर स्पीड, के विरूद्ध प्रवर्तन कार्यवाही, दुपहिया वाहन में चालक सहचालक द्वारा बिना हैल्मेट पहने वाहन चलाना, आदि बिन्दुओं पर स्थिति से सांसद को अवगत कराया। श्री बंसल ने सड़क दुर्घटनाओं के दौरान प्रशासन तथ पुलिस की ओर से सुरक्षित बचाये गये घायलों का आंकड़ा तथा आम समाज के मददगार व्यक्ति (गुड सेमेरिटन) व्यक्तियों सम्बंधी आंकड़े भी तैयार करने के निर्देश दिये। श्री बंसल ने कहा कि विभाग और प्रशासन कुम्भ मेला के दृष्टिगत भी सड़कों को सुरक्षित बनाये जाने के प्रभावी उपाय करें और सुरक्षित यातायात प्लान तैयार किया जाये। संासद ने जिला प्रशाासन के अधिकारियों से कहा कि जो भी कार्य लोगों के जीवन की रक्षा के लिए जैसे सड़कों, पुलों आदि का निर्माण में इस भावना से करें कि विभागों को खुद किये गये कार्यों तथा जनता को विभागों द्वारा किये गये कार्यो से संतोष प्राप्त हो। कोई भी कार्य मात्र खानापूर्ति के लिए न किये जायें। सड़क सुरक्षा के लिए निर्माण विभागों का समन्वय हो इसके लिए जिलाधिकारी सड़क सुरक्षा समन्वय समिति का भी गठन करें। इस समिति में जनप्रतिनिधियों को शामिल करें और सड़कों से सम्बंधित कार्यों में इनके सुझाव से विभागीय कार्यो में समन्वय बनाकर जनता को लाभ पहुंचाया जाये। पुलिस सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए युवा वालिंटियर्स को प्रशिक्षत करे और उनका सहयोग ले। शिक्षा विभाग को वर्चुअल माध्यम से चल रही कक्षाओं में भी सभी शिक्षकों को कक्षा के बाद कुछ समय छात्रों को सड़क सुरक्षा की जानकारी देकर छात्रों को प्रेरित और जागरूक करेें। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद ने सड़क सुरक्षा जागरूकता वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। वाहन में लगी एलईडी के माध्यम से लोगों को सड़क सुरक्षा के संबंध में जागरूक किया जाएगा।