जिला पंचायत बोर्ड बैठक में जमकर हुई तू तू मै मै,हाथा-पाई की नौबत

अध्यक्ष ने उपाध्यक्ष को सस्पेंड तो उपाध्यक्ष ने अध्यक्ष को बताया बर्खास्त

हरिद्वार। जिला पंचायत बोर्ड की शनिवार को हुई बैठक में जमकर हंगामा हुआ। बैठक में जिला पंचायत उपाध्यक्ष के आने से हुई असहज स्थिति में उस समय नाटकीय मोड़ आ गया जब एक सदस्य ने उपाध्यक्ष को हाथ पकड़कर बाहर करने का प्रयास किया। दोनो के बीच हाथा-पाई होने की शुरूआत से पहले मौके पर मौजूद झबरेड़ा विधायक ने बीच-बचाव कर दोनो को अलग किया। बाद में शुरू हुई बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के बीच जमकर शब्द बाण चले। दोनों वरिष्ठ पदाधिकारियों ने एक दूसरे पर जमकर निशाना साधा। जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा के उपाध्यक्ष राव आफाक अली को सस्पेंड बताने पर राव आफाक अली ने पलटवार करते हुए सुभाष वर्मा को बर्खास्त बता दिया। शनिवार को इस बोर्ड की संभवतः अन्तिम बैठक में हंगामे की शुरूआत बसपा के जिला पंचायत सदस्य बिजेंद्र चैधरी द्वारा उपाध्यक्ष राव आफक अली के बैठक में उपस्थित रहने पर एतराज जताने हुई। बिजेंद्र चैधरी ने राव आफाक अली को बर्खास्त बताते हुए बैठक से चले जाने को कहा। हंगामा बढ़ता देख विधायक देशराज कर्णवाल, जिला पंचायत सदस्य सुबोध राकेश, नूरहसन, रोशनलाल, भूपसिंह आदि ने सूझबूझ कर परिचय देखते हुए हंगामे को शांत कराया और कहा कि यह जिला पंचायत बोर्ड की अंतिम बैठक है। इसमें अनावश्यक रूप से विवाद ना करें।इस पर राव आफाक अली ने शालीनता से कहा कि वे बैठक से चले जाएंगे, इसके लिए जिला पंचायत अध्यक्ष व अपर मुख्य अधिकारी उन्हें लिखित में दे कि वे बोर्ड बैठक में भाग नहीं ले सकते हैं। इस पर अध्यक्ष सुभाष वर्मा व अपर मुख्य अधिकारी चुप्पी साध गए। लेकिन बसपा सदस्य बिजेंद्र सिंह व सदस्य लतीफन के प्रतिनिधि मुकर्रम अंसारी राव आफाक अली को बैठक से बाहर करने के लिए हंगामा करने लगे। इस पर हंगामा बढ़ गया और राव आफाक अली जमकर कुर्सी पर बैठ गए और हंगामा करने वालों को चेतावनी भरे लहजे में कहा कि जिसमें हिम्मत है उन्हें बैठक से बाहर करके दिखाएं। राव आफाक अली ने बताया कि सत्ता के दबाव में उन्हें गलत तरीके से अग्रिम आदेशों तक उपाध्यक्ष पद से सस्पेंड किया गया है, बर्खास्त नहीं किया गया है। लेकिन मेरी सदस्यता जिला पंचायत सदस्यता बरकरारर है। एक सदस्य के रूप में उन्हें बैठक में भाग लेने का पूरा अधिकार है। उनके इस अधिकार से उन्हें कोई वंचित नहीं कर सकता है। मुझे संविधान और न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। सरकार के निर्णय के खिलाफ न्यायालय जाऊंगा। राव आफाक अली ने बैठक में सभी निर्वाचित जिला पंचायत सदस्यों के क्षेत्रों में विकास कार्य कराने की मांग की। सदस्यों ने कहा कि चुनाव सिर पर हैं। लेकिन विकास कार्य कराने में भेदभाव किया जा रहा है। प्रत्येक सदस्य के क्षेत्र में एक एक करोड़ की धनराशि से विकास कार्य कराए जाने चाहिए। सभी सदस्यों ने सहमति जताई। बैठक में विधायक देशराज कर्णवाल ने टोल प्लाजा के बीस किलोमीटर के दायरे में ग्रामीण व शहरी लोगों से शुल्क नहीं लिए जाने का प्रस्ताव रखा। जिसे सर्वसम्मति से पास किया गया। पिछली बैठक की कार्यवाही की पुष्टि किए जाने के प्रस्ताव पर राव आफक अली ने असहमति जताई। जिसे बोर्ड ने स्वीकार किया। भविष्य में मिलने वाले बजट के संबंध में रखे गए प्रस्ताव का भी राव आफाक अली ने यह कहते हुए विरोध किया कि जब बजट मिलेगा तब प्रस्ताव लाया जाए। इसे भी बोर्ड ने स्वीकर कर लिया। बैठक में विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैम्पियन, देशराज कर्णवाल, सुबोध राकेश, नूरहसन, रोशनलाल, भूपसिंह, मजहर अली, रानी देवयानी, अमीलाल बाल्मिीकि, फुरकान अहमद, विजयपाल आदि जिला पंचायत सदस्य मौजूद रहे। 

Comments