कोरोनावायरस का प्रकोप दुनिया से जल्द समाप्त हो,के लिए की माॅ गंगा की पूजा अर्चना

 

हरिद्वार। निरंजनी अखाड़े के नवनियुक्त आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज ने अखाड़े के संतों के सानिध्य में हर की पौड़ी पहुंच कर विधि विधान पूर्वक पूजा अर्चना की। श्री पंचायती अखाड़ा निरंजनी से बाजार मार्ग से होते हुए भव्य रुप से शोभा यात्रा के रूप में संत महापुरुष हर की पौड़ी पहुंचे। जहां उन्होंने विधि विधान पूर्वक पूजा अर्चना कर मां गंगा से आशीर्वाद प्राप्त किया और कोरोनावायरस का प्रकोप दुनिया से जल्द समाप्त हो इसके लिए मां गंगा से प्रार्थना की। निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज ने कहा कि अखाड़े में आचार्य का पद सर्वोच्च होता है। निरंजन पीठाधीश्वर के रूप में उनका सम्मान अखाड़े द्वारा किया गया है। उसके लिए वह सदैव आभारी रहेंगे। स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज ने कहा कि उनका उद्देश्य युवा संतो के हृदय में सनातन संस्कृति को जागृत कर देश दुनिया में धर्म का प्रचार करना होगा। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज ने कहा कि स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज एक तपस्वी एवं विद्वान महापुरुष है जो अपने तप व विद्वत्ता के माध्यम से सर्व समाज को ज्ञान की प्रेरणा प्रदान करते हैं। उनके अचार्य नियुक्त होने से निश्चित तौर पर ही अखाड़े के युवा संतो को एक प्रेरणा मिलेगी और धर्म के क्षेत्र में उनका मार्गदर्शन होगा। आनंद पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी बालकानंद गिरी महाराज ने कहा कि निरंजनी अखाड़ा एवं आनंद अखाड़ा एक साथ मिलकर धर्म व संस्कृति के नए आयाम स्थापित करेंगे। इस दौरान मां मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज, निंरजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रामरतन गिरी, श्रीमहंत ओंकार गिरी, महंत दिनेश गिरी, महंत नीलकंठ गिरी, महंत नरेश गिरी, महंत लखन गिरी, महंत मनीष भारती, महंत राधे गिरी, महंत आलोक गिरी, दिगंबर गंगा गिरी, दिगंबर बलबीर पुरी, स्वामी राधाकांताचार्य, स्वामी अनुरागी महाराज, स्वामी अवंतकानंद ब्रह्मचारी, स्वामी कृष्णानंद ब्रहमचारी, स्वामी बालमुकुंद ब्रह्मचारी, पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष ओमप्रकाश जमदग्नि, समाजसवी राकेश गोयल, नरेश गोयल आदि मौजूद रहे।