व्यापारी नेताओं ने प्रदेश अध्यक्ष को बताया तथाकथित

 


हरिद्वार। प्रदेश अध्यक्ष के दौरे को लेकर प्रान्तीय उद्योग व्यापार मण्डल के जिलाध्यक्ष डा.नीरज सिंघल व जिला महामंत्री संजय त्रिवाल ने संयुक्त रूप से प्रैस को जारी बयान में कहा कि आज कल हरिद्वार के व्यापारियों को भ्रमित करने का एक अभियान चलाया जा रहा है। लाॅकडाऊन से हरिद्वार के व्यापारी भूखमरी के कगार पर आ गए हैं। सरकार लेनदारी पर सख्त है। लेकिन कामकाज नहीं होने की वजह से व्यापारी भुगतान नहीं कर पा रहे हैं। व्यापारियों की रोजी रोटी की समस्या के समाधान के लिए कुछ करने के बजाए केवल स्वागत कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। व्यापारियों की समस्या पर कोई ध्यान नहीं हैं। हरिद्वार आए संगठन के तथाकथित प्रदेश अध्यक्ष ने हरिद्वार आकर केवल माल्यापर्ण कार्यक्रम किया। लेकिन हरिद्वार के व्यापारियों की जो वास्तविक पीड़ा है। उसके विषय में एक शब्द भी नहीं कहा। 2019 से ही किसी न किसी बहाने से ट्रेने लगातार बन्द चल रही हैं। जिसके कारण तीर्थ यात्री हरिद्वार नहीं आ रहे हैं। हरिद्वार पर्यटक स्थान नहीं अपितु तीर्थ स्थान है। यहां पर औसत दर्जे का यात्री ही आता है। जिसके आवागमन का एक मात्र साधन ट्रेन है। लेकिन अधिकतर ट्रेनों का संचालन बंद है। केवल चुनिंदा ट्रेन ही संचालित की जा रही हैं। प्रदेश अध्यक्ष ने व्यापारी हितों के लिए संघर्ष करने के ऐलान की जगह केवल स्वागत कार्यक्रम कराया। प्रदेश अध्यक्ष ने व्यापार मण्डल की निर्वाचित कार्यकारिणी के चुनाव के विषय में भी मौन साधे रखा। जबकि आम व्यापारी चाहता है कि लोकतांत्रिक प्रक्रिया द्वारा उसे अपने प्रतिनिधि चुनने का मौका मिले। व्यापारियों को भ्रमित करने वाले नेताओं से सावधान रहना होगा। जोकि व्यापार से वंचित रख अपने राजनीतिक व आर्थिक हित साधते हैं। 


Comments