विद्या व ज्ञान की देवी मां सरस्वती पूजन से सुख-समृद्वि का वास होता है -के0के0 मिश्रा

हरिद्वार। संगम ट्रस्ट की ओर से इन्द्रलोक कालोनी में वसंत पंचमी के मौके पर सरस्वती पूजन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एडीएम केके मिश्रा का ट्रस्ट के अध्यक्ष जटाशंकर श्रीवास्तव, प्रदेश सचिव रवि मिश्रा, कोषाध्यक्ष विनोद कुमार त्रिपाठी व कार्यक्रम संयोजक मनोज शुक्ला ने फूलमाला पहनाकर स्वागत किया। मुख्य अतिथि ने द्वीप प्रज्ज्वलित व सरस्वती वंदना कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में मौजूद कालोनीवासियों को बसंत पंचमी की शुभकामनाएं देते हुए एडीएम केके मिश्रा ने कहा कि भारतीय संस्कृति बसंत को ऋतुराज की संज्ञा दी गयी है। बसंत ऋतु में मौसम में आने वाला सुखद बदलाव प्रत्येक व्यक्ति को आह्लादित करता है। बसंत पंचमी पर विद्या व ज्ञान की देवी मां सरस्वती का पूजन करने से परिवारों में सुख समृद्धि का वास होता है। परस्पर सहयोग कर बसंत पंचमी के पर्व को उत्साहपूर्वक मनाना चाहिए। उन्होंने मां सरस्वती से देश व प्रदेश को कोरोना मुक्त करने की प्रार्थना भी की। ट्रस्ट के जिला अध्यक्ष जटाशंकर श्रीवास्तव ने कहा कि बसंत पंचमी पर सरस्वती पूजन करने से जहां विद्या व ज्ञान की प्राप्ति होती हैं। वहीं ऋतुराज बसंत पर्यावरण संरक्षण का संदेश भी देता है। मानवीय गलतियों के चलते पर्यावरण में हो रहे बदलाव के चलते कई प्रकार के रोग सभी को प्रभावित कर रहे हैं। ऐसे में सभी को पर्यावरण संरक्षण का संकल्प भी अवश्य लेना चाहिए। प्रदेश सचिव रवि मिश्रा व कोषाध्यक्ष विनोद कुमार त्रिपाठी ने कहा कि धार्मिक क्रियाकलाप व संस्कृति के महत्व को युवा पीढ़ी को प्रेरित करना चाहिए। इस दौरान नन्हें कलाकारों ने सांस्कृति प्रस्तुतियां देकर सभी को मोहित किया। भाजपा के जिला महामंत्री विकास तिवारी व महिला कांग्रेस जिला अध्यक्ष विमला पाण्डेय ने प्रस्तुति देने वाले नन्हें कलाकारों को प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर मनोज शुक्ला, राज तिवारी, अजय तिवारी, मदनेश मिश्रा, वरूण शुक्ला, रमेश पांडे, लक्ष्मी त्रिपाठी, रवि द्विवेदी, विवेक तिवारी, अंजनि चैबे, कमलेश सिंह, हिमांशु शेखर, अनीत मिश्रा, लालबहादुर गुप्ता, सुरेंद्र मौर्य, रामकुमार सिंह, अरविंद नारायण मिश्र, शशीभूषण पांडे, बीजी शुक्ला, सदानंद बैठा, कुबेरनाथ वर्मा, उपेंद्र श्रीवास्तव, अपूर्वा द्विवेदी, शिवशंकर मिश्र, डा.डीएन तिवारी, रामेश्वर यादव, विमल चंद्र, सुनील मिश्र, शिव पूजन पटेल, वीरसिंह, दलीप झा, राजीव सिंह, राम अवतार सिंह आदि मौजूद रहे।