केंद्रीय परिवहन मंत्री ने किया 250 किलोमीटर लंबे सात राष्ट्रीय राजमार्गों का लोकार्पण और शिलान्यास

दिल्ली-हरिद्वार-देहरादून इकोनामिक कोरिडोर की घोषणा 

हरिद्वार। केंद्रीय मंत्री ने उत्तराखंड के लिए महत्वपूर्ण दिल्ली-हरिद्वार-देहरादून इकोनामिक कोरिडोर की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इस कोरिडोर के बन जाने से देहरादून से दिल्ली की दूरी दो घंटे में तय हो जाएगी, जो वर्ष 2024 तक बनकर तैयार हो जाएगा। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 5400 करोड़ की लागत से 250 किलोमीटर लंबे सात राष्ट्रीय राजमार्गों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। श्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इन राजमार्गों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि इनके बनने से समय की बचत और ईंधन की खपत कम होगी। साथ ही हरिद्वार, रूड़की, देहरादून व आसपास के लोगों को जाम से भी निजात मिलेगी। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण में जितनी बाधाएं आई उन्हें दूर कर आज इनका लोकार्पण किया गया है। उन्होंने चारधाम यात्रा आलवेदर रोड का जिक्र करते हुए बताया कि 647 किलोमीटर में से 450 किलोमीटर कार्य पूरा हो गया है। शेष का मामला कुछ अडचनों की वजह से रूका हुआ है, जिसे जल्द ही दूर कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कुंभ से पहले काम पूरा कराने का जो वायदा मैंने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को दिया था, वह सभी के सहयोग से आज पूरा हुआ है। वीआइपी घाट पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने उत्तराखंड राज्य के विकास कार्यों में ऐतिहासिक निर्णय लेकर अनेक कार्यों को पूरा कराया है। उन्होंने कहा कि सड़कों से विकास की गति में काफी तेजी आती है। दिल्ली-देहरादून वाया सहारनपुर राजमार्ग से समय बचेगा और लोगों को सहूलियत होगी। उन्होंने इसके लिए देवभूमि के नागरिकों की तरफ से आभार जताया। वीआईपी घाट पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि केंद्रीय शिक्षा मंत्री डा0 रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने सड़कों की जो सौगात दी है, उसके लिए हम उनका आभार व्यक्त करते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखंड ही नही बल्कि पूरा देश लगातार विकास के नये आयाम गढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि पूर्णागिरि से जन शताब्दी एक्सप्रेस का वर्चुअल तरीके से लोकार्पण किया जा रहा है। यह उत्तराखंड के लिए ऐतिहासिक दिन है। उन्होंने शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक द्वारा किए गए कार्यों का जिक्र करते हुये कहा कि उनके कार्यकाल में हरिद्वार में काफी तेजी से कार्य हुए हैं। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि आज का यह कार्यक्रम लगातार प्रयासों व मेहनत का नतीजा है। उन्होंने कहा कि हरिद्वार रिंगरोड एवं मेडिकल काॅलेज एक बड़ी उपलब्धि है तथा हरकी पैड़ी से चंडीदेवी रोपवे की स्वीकृति हो गई है। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों में हर कदम पर केंद्रीय मंत्री निशंक का पूरा सहयोग मिला है। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के चेयरमैन एसएस संधू ने निर्माण कार्यों पर विस्तार से प्रकाश डाला। कार्यक्रम में वर्चुअल माध्यम से सांसद तीरथ सिंह रावत, सांसद अजय टम्टा, राज्यसभा सांसद नरेश बंसल, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, यशपाल आर्य आदि शामिल रहे। इस मौके पर दायित्वधारी डा0 विनोद आर्या, दायित्वधारी पंकज सहगल, विधायक आदेश चैहान, सुरेश राठौर,स्वामी यतीश्वरानंद, शिवालिकनगर पालिकाध्यक्ष राजीव शर्मा, अनिल अरोड़ा सहित अन्य लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता भाजपा जिलाध्यक्ष डा0 जयपाल सिंह चैहान ने और संचालन भाजपा जिला महामंत्री विकास तिवारी ने किया।
ये राजमार्ग हैं शामिल 
मुजफ्फरनगर-हरिद्वार का चार लेन निर्माण, जिसकी लंबाई 78 किलोमीटर और लागत 1750 करोड़ रुपए है। रुड़की-छुटमलपुर -गागलहेड़ी(एनएच 73) और छुटमलपुर गणेशपुर एनएच 72ए का चार लेन निर्माण, जिसकी लंबाई 37 किलोमीटर और लागत 1000 करोड़ रुपए है। मुजफ्फरनगर-हरिद्वार एलिवेटेड संरचना मायापुर एस्केप चैनल पर सेतु(एनएच 58) पर जिसकी लंबाई एक किलोमीटर और लागत 50 करोड़ रुपये है।


Comments