जेल में बंद बदमाश ने जेल में बंद छात्रवृत्ति के आरोपी से ली 6लाख की रंगदारी

 हरिद्वार। रोशनाबाद जेल में रहते हुए इंतजार उर्फ भूरा पहलवान ने सीआईएसएफ के पूर्व दरोगा के साथ मिलकर 6 लाख रुपये की रंगदारी वसूली थी। यह रंगदारी जेल में बंद छात्रवृत्ति घोटाले के आरोपी से ली गई थी। सिडकुल पुलिस ने इस मामले में इंतजार, पूर्व दरोगा समेत 5 के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। मंगलवार को इंतजार पहलवान के गुर्गे को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसी गुर्गे के खाते में 4 लाख रुपये डलवाए गए थे। 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई थी। बीते जनवरी माह में दिल्ली के सर्राफ से जेल में रंगदारी मांगने के मामले का पर्दाफाश होने के बाद एक और नया मामला सामने आया है। बीते सोमवार को रोशनाबाद जेल में छात्रवृत्ति घोटाले की राशि हड़पने के आरोप में सहारनपुर उप्र के कमालपुर छुटमलपुर स्थित कृष्णा आइटीआई के चेयरमैन अनिल सैनी ने अपने बयान में बताया कि इंतजार उर्फ पहलवान उर्फ भूरा और उसके साथियों ने उससे रंगदारी वसूल की थी। 10 लाख रुपये की डिमांड की गई थी। रुपये न देने पर परिवार को मरवाने की धमकी दी थी। विचाराधीन बंदी अनिल सैनी ने अपने भाई की मदद से कुख्यात इंतजार के कहने पर विवेक शर्मा, गौरव और अब्दुल समद को 6 लाख रुपये दिए थे। इसमें से 4 लाख रुपये रुड़की निवासी अब्दुल समद के खाते में डाले थे। नगदी वर्ष 2020 जून में खाते में डाली गई थी। इस पूरे मामले में कुख्यात के साथ हरिद्वार जेल में अपनी पत्नी की हत्या के आरोप में बंद सीआईएसएफ का पूर्व दरोगा सचिन कौशिक भी शामिल था। पूछताछ में माला सामने आने के बाद पुलिस ने बीते सोमवार को आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। मंगलवार को पुलिस ने आरोपी अब्दुल समद पुत्र खालिद निवासी पश्चिमी अंबर तालाब गंगनहर रुड़की को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी इंतजार के संपर्क में बीते कई साल से था। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि आरोपी को जेल भेज दिया गया है।


Comments