कोरोना की आड़ में श्रद्वालुओं का उत्पीड़न कर रही है प्रशासन-शासन-बोरा

हिजामं ने दी चेतावनी सुधार नही करने पर प्रदेशव्यापी आंदोलन की चेतावनी

हरिद्वार। कुंभ मेले को आयोजन को लेकर जारी एसओपी का कड़ा विरोध करते हुए हिन्दू जागरण मंच ने आंदोलन करने की चेतावनी दी है। मंगलवार को पत्रकारों से वार्ता करते हुए हिन्दू जागरण मंच के प्रदेश अध्यक्ष कृष्ण सिंह बोरा ने कहा कि सरकार कोरोना की आड़ में कुंभ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए 72 घंटे पूर्व की कोविड नेगेटिव रिपोर्ट साथ लाने जैस कठोर नियम लागू कर श्रद्धालुओं का मानसिक उत्पीड़न कर रही है। बोरा ने कहा जब देश में आवागमन निर्बाध रूप से चल रहा है। तमाम राजनैतिक गतिविधियां, रैली, रोड़ शो, किसान आंदोलन आदि चल रहे हैं तो हरिद्वार में होने वाले कुंभ मेले में स्नान के लिए आने पर पोर्टल पर ंपजीकरण व कोविड नेगेटिव रिपोर्ट की अनिवार्यता जैसे नियम धार्मिक गतिविधियों में हस्तक्षेप ही मानसिक प्रताड़ना भी है। साथ ही श्रद्धालुओं को हतोत्साहित एवं रोकने का हथकण्डा मात्र है। जिसे स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सामूहिक भजन कीर्तन, सत्संग, प्रवचन, हरिद्वार में आने पर एंट्री पास एवं हथेली पर मोहर जैसे नियम भी पूरी तरह अव्यवहारिक एवं श्रद्धालुओं की धार्मिक गतिविधियों में हस्तक्षेप है। हिन्दू जागरण मंच प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सरकार व मेला प्रशासन अपनी कमियों को छिपाने के लिए कठोर प्रतिबंध लागू कर रहे हैं। यदि सरकार व मेला प्रशासन कुंभ मेला कराना ही नहीं चाहते हैं तो अस्थाई व्यवस्थओं पर धन क्यों खर्च किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हिन्दू समाज नियम व कानूनों को मानने वाला समुदाय है। लेकिन सामान्य परिस्थितियों में धार्मिक गतिविधियों में अनावश्यक हस्तक्षेप कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके विरोध में 26 फरवरी से हरिद्वार से आंदोलन की शुरूआत की जाएगी। प्रांत संपर्क प्रमुख नाथीराम सैनी, जिला अध्यक्ष मनीष चैहान व महानगर अध्यक्ष संजय चैहान ने कहा कि यह सरकार की अदूरदर्शिता है और भ्रष्टाचार व नाकामियों को छिपाने के लिए किया जा रहा है। इस दौरान प्रदेश महामंत्री युवा वाहिनी हीरा सिंह बिष्ट, जिला महामंत्री जोध सिंह, जिला संपर्क प्रमुख चैनपाल सिंह, ब्लाॅक अध्यक्ष राहुल सिंघल, अंकित आदि पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

Comments