अपर मेलाधिकारी ने की कुम्भ मेला कार्यो के प्रगति की समीक्षा,भिखारियों को हटाने के निर्देश

 हरिद्वार। अपर मेलाधिकारी डाॅ0 ललित नारायण मिश्र ने बुधवार को मेला नियंत्रण भवन में महाकुंभ के कार्यों के प्रगति की समीक्षा की। अपर मेलाधिकारी ने अधिकारियों को घाटों पर सुरक्षा चेन, रेलिंग हर हाल में लगवाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने सीओ विजयेन्द्र दत्त डोभाल से प्रमुख मार्गों पर बाटलनेक की जानकारी ली। उन्होंने बताया कि हाईवे बनने से अब बाटलनेक काफी कम हो गये हैं, लेकिन फिर भी दूधाधारी एवं रायवाला को बाटलनेक की दृष्टि से देखा जा सकता है। सीओ ने बैठक में प्रेमनगर आश्रम के नीचे सर्विस लेन के गड्ढे और रेलिंग दुरूस्त करने और निर्मल बाग के तरफ की लेन ठीक कराने की जानकारी दी। अपर मेलाधिकारी ने ऋषिकुल पुलिया पर भी प्रबंध करने और वाल्मीकि चैक, शिवमूर्ति चैक से अतिक्रमण हटवाने के निर्देश दिये। उन्होंने अधिकारियों का भिखारियों की ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुये मेला क्षेत्र से भिखारियों को हटवाने के निर्देश दिये। डाॅ0 ललित नारायण मिश्र ने निजी घाटों पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए प्रबंध न होने पर अधिकारियों द्वारा नोटिस न दिये जाने पर नाराजगी जताई। लोकनिर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता दीपक कुमार ने बताया कि मायापुर क्षेत्र में अखाड़ों के आसपास सड़क व पेयजल के कार्य चल रहे हैं, उन्होंने कार्यों की मानीटरिंग नियमित रूप से कराने की जरूरत पर जोर दिया। अपर मेलाधिकारी ने शंकराचार्य चैक से लेकर कनखल देशरक्षक तिराहे तक की सड़क पर जहां भी गड्ढे हों, उनको निरीक्षण कर ठीक कराने, 54 घाटों पर स्ट्रीट लाइट की समुचित व्यवस्था, पुलों की क्षतिग्रस्त रेलिंग, लटकते बिजली के तारों को तत्काल ठीक कराने के निर्देश अधिकारियों को दिये। डाॅ0 ललित नारायण मिश्र ने अग्नि सुरक्षा के दृष्टिगत पटाखों के गोदामों, पेंट वार्निश, गैस गोदामों आदि का निरीक्षण कर जो भी कमियां मिलें, अधिकारी उसे तुरंत दूर कराकर 25 फरवरी तक प्लान प्रस्तुत करें। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि रोपवे मेंटनेंस के दृष्टिगत लाॅ एंड आर्डर के लिए सभी जरूरी प्रबंध सुनिश्चित कराते हुए रोपवे को लेकर जो गाइडलाइंस हैं, उनका पालन व माॅनिटरिंग कराना सुनिश्चित करें।  बैठक में सिटी मजिस्ट्रेट जगदीश लाल, अधिशासी अभियंता विद्युत पवन कुमार, एसके सहगल, सीओ  प्रबोध घिल्डियाल, जगदंबा प्रसाद, सिंचाई विभाग गंगा अनुरक्षण इकाई के सहायक अभियंता राकेश चैहान सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण मौजूद थे।


Comments