मेला प्रशासन का लक्ष्य मेले के दौरान हरि की पैड़ी क्षेत्र में न हो मक्खी-मच्छर-दीपक रावत

 हरिद्वार। मेलाधिकारी दीपक रावत ने कुम्भ मेले के दृष्टिगत हरकीपैड़ी से मच्छर-मक्खी नियंत्रण कार्यक्रम के अभियान का हरी झण्डी दिखाकर शुभारम्भ किया। सोमवार को मच्छर-मक्खी नियंत्रण हेतु दवा के छिड़काव की शुरूआत हरकीपैड़ी स्थित एक रेस्टोरेंट से की गयी। इस मौके पर दीपक रावत ने मच्छर-मक्खी नियंत्रण अभियान के सम्बन्ध में बताया कि इस अभियान के सफल संचालन के लिये उप मेलाधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी गयी है। उन्होंने कहा कि पूरे कुम्भ मेला क्षेत्र के लिये सेक्टरवाइज टीमें बनाई गयी हैं। उन्होंने कहा कि कुम्भ मेले में बहुत सारे श्रद्धालु आयेंगे, खाने-पीने के हमारे सभी होटल व ढाबे चले रहे होंगे तथा गर्मी का सीजन भी निकट है। इसको देखते हुये हमने मक्खी व मच्छर दोनों ही मेला क्षेत्र में न आयें, इसके लिये अभी से प्रोग्राम शुरू किया गया है। यह कार्य मार्केट क्षेत्र में अभी से करना बहुत जरूरी है। कुल मिलाकर हमारा लक्ष्य यह है कि मेले के दौरान व उसके बाद भी मक्खी-मच्छर बिल्कुल न हों तथा किसी भी प्रकार से मक्खी-मच्छर से सम्बन्धित कोई भी बीमारी न फैलने पाये। इस अवसर पर श्रीगंगा सभा के महामंत्री तन्मय वशिष्ठ, अपर मेला अधिकारी डाॅ0 ललित नारायण मिश्र, हरवीर सिंह, मेलाधिकारी स्वास्थ्य, अर्जुन सिंह सेंगर, उप मेला अधिकारी, अंशुल सिंह, किशन सिंह नेगी, दयानन्द सरस्वती, सहायक नगर आयुक्त सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।