स्कूल खुलने के पहले दिन पहुचे छात्र-छात्राओं में उत्साह,एसओपी के अनुसार कक्षाएं शुरू

 हरिद्वार। करीब ग्यारह महीने बाद कक्षा 6से 11तक के स्कूल खुल गये,स्कूल खुलने के पहले दिन स्कूल पहुचे बच्चों में उत्साह दिखाई दिया,लेकिन निजी स्कूलों में उपस्थिति कमोबेश कम रही। सोमवार को प्रदेश सरकार की एसपीओ के मुताबिक आज से कक्षा 6 से बारहवीं तक के स्कूल खुल गए हैं, सुबह से ही स्कूलों में बच्चों की अच्छी खासी तादाद देखने को मिली है, कोविड-19 के मुताबिक स्कूल में सैनिटाइजर और मास्क का प्रयोग अनिवार्य किया गया है, कक्षा में प्रवेश करने से पहले बच्चों को सैनिटाइजर का प्रयोग रहा है और बिना मास्क लगाए स्कूल में आने की अनुमति नहीं है, स्कूल के गेट पर ही बच्चों का तापमान लिया जा रहा है, जिसके बाद ही बच्चे अपनी कक्षा में प्रवेश कर पा रहे हैं। हालांकि स्कूल में सैनिटाइजेशन स्क्रीनिंग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना स्कूल प्रबंधन के लिए बड़ी चुनौती के रूप में सामने आ रहा है, हरिद्वार में स्कूल आज से खुल गए हैं, करीब 10 महीने बाद जब स्कूल खुले तो स्कूलों में अच्छी खासी रौनक मिली। छात्र-छात्राओं ने भी लंबे समय बाद स्कूल खुलने पर खुशी जताई, उनके मुताबिक स्कूल खुलने के बाद काफी अच्छा महसूस हो रहा है, दसवीं क्लास के बच्चे तो पहले से ही स्कूल आ रहे थे जो लगातार सोशल डिस्टेंसिंग का प्रयोग कर रहे हैं और कोविड नियमों के प्रति जागरूक भी हैं, स्कूल प्रबंधक भी कोविड-19 प्रति जागरूक हैं और सुबह से ही सैनिटाइजर और मास्क के प्रयोग के प्रति बच्चों को जागरूक कर रहे हैं और बिना मास्क स्कूल में प्रवेश करने वाले छात्र-छात्राओं पर कड़ी नजर रख रहे हैं, उनके मुताबिक प्रदेश सरकार ने जो एसपी जारी की है उसका पूर्णतया पालन कराया जाएगा। बच्चों के अभिभावक से भी लिखकर स्कूल प्रशासन उनकी अनुमति ले रहा है कोरोना काल के दौरान बंद स्कूलों के खुलने के बाद राजकीय कन्या इंटर कॉलेज ज्वालापुर मे पहले दिन कक्षा 6 से 9 तक की 364 छात्राएं विद्यालय पहुंचीं। स्कूल आने वाली छात्राओं में उत्साह दिखाई दिया। पहले दिन दो चरणों में छात्राओं को बुलाया गया। सभी छात्राओं को सेनेटाइज और थर्मल स्क्रीनिंग के बाद कक्षाओं में प्रवेश दिया गया। सोमवार को कुल 364 छात्राएं स्कूल पहुंच गईं। कक्षा 6, 7, 8 और 9 की कुल 864 छात्राएं हैं। जिनमें 364 पहुंचीं। प्रधानाचार्या पूनम राणा सुबह स्कूल में थर्मल स्क्रीनिंग से लेकर सेनेटाइजेशन की मॉनीटरिंग करती रहीं। जबकि सभी छात्राओं के एकत्र होने के बाद उन्हें गाइडलाइन के बारे में प्रधानाचार्य की ओर से बारीकी से जानकारी दी गई। पूनम राणा ने बताया कि गाइडलाइन का पालन करते हुए छात्राओं को दो चरणों में बुलाया गया है। कक्षा 6, 7, 8, 9 को सुबह 9ः15 से 12ः 30 बजे तक और 10, 11, 12 की छात्राओं को 12ः30 से 3ः30 तक पढ़ाया गया। भीड़ एकत्र न हो इसके लिए पहले कक्षा 9 की छात्राओं की दोपहर 12 बजे छुट्टी की गई। जबकि 6, 7, 8 की छात्राओं को लंच कराया गया। 


Comments