श्री पंचायती निरंजनी अखाड़े में आज होगी धर्मध्वजा की स्थापना

 हरिद्वार। कुंभ को लेकर अखाड़ों में गतिविधियां शुरू हो गयी हैं। शनिवार को निरंजनी अखाड़े में धर्मध्वजा की स्थापना की जाएगी। धर्मध्वजा की स्थापना के साथ ही अखाड़ों में कुंभ को लेकर धार्मिक गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। सात सन्यासी अखाड़ों में सबसे पहले निरंजनी अखाड़े में धर्म ध्वजा की स्थापना की जाएगी। धर्मध्वजा की स्थापना को लेकर अखाड़े में तैयारियां की जा रही हैं। अखाड़े के संत महंतों ने सेफ पार्किंग में बनायी जा रही कुंभ मेला छावनी, जहां धर्मध्वजा स्थापित की जाएगी, का निरीक्षण कर तैयारियों को अंतिम रूप दिया। इस दौरान अपर मेला अधिकारी व मेला प्रशासन के अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। निरंजनी अखाड़े के सचिव व कुंभ मेला प्रभारी श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने बताया कि कुंभ मेले के दौरान स्थापित की जानी वाली धर्मध्वजा अखाड़ों के लिए सबसे महत्वपूर्ण होती है। अखाड़ों में धर्म ध्वजा स्थापित होने के बाद ही विधिवत रूप से कुंभ मेला शुरू होता है। धर्म ध्वजा के नीचे ही अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर द्वारा नागा सन्यासियों को संन्यास की दीक्षा दी जाती है। उन्होंने बताया कि दशनाम सन्यासी परम्परा में 52 मढ़ीयां हैं। जिसके प्रतीक के रूप में 52 फीट ऊंची धर्मध्वजा स्थापित की जाती है और उसमें 52 बंध लगाए जाते हैं। सबसे ऊपर भगवा झण्डा लगाया जाता है। निरंजनी अखाड़े की वर्षो से चली आ रही परंपरा के अनुसार धर्मध्वजा की स्थापना के समय श्रीमहंत मौजूद नहीं रहते हैं। निरंजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रामरतन गिरी महाराज ने बताया कि धर्मध्वजा की स्थापना के लिए सभी तैयारियां कर ली गयी हैं। इस दौरान अखाड़े के आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज सहित अखाड़े के अनेक संत मौजूद रहे। 


Comments