किसानों से वार्ता को सरकार तैयार,किसान हठधर्मिता छोड़ खुले मन से वार्ता करें-शाहनवाज

हरिद्वार। पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा है कि किसान आंदोलन की आड़ में माओवादी, नक्सलवादी और असामाजिक तत्वों ने दिल्ली के लालकिले पर देश को अपमानित करने का काम किया। उन्होने किसान आंदोलन को लेकर कांग्रेस और विपक्षी दलों को आड़े हाथों लिया। उन्होंने 26 जनवरी को लाल किले पर हुई घटना को साजिश करार दिया। भाजपा प्रवक्ता गुरूवार को हाईवे स्थित एक होटल में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा बिहार में स्किल डेवलपमेंट को लेकर काम किया जा रहा हैं। कहा कि बिहार की समस्या को हल करने के लिए ही मैं बिहार आया हूं। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि किसान आंदोलन की आड़ में नेता यह चाहते थे कि सरकार गोली चलाये और उसके बाद पूरे देश में हल्ला हो। लेकिन सरकार ने इस मामले को बड़ी गंभीरता से लिया। अब भविष्य की संभावनाओं को देखते हुए दोबारा ऐसे असामाजिक तत्वों को रोकने के लिए वहां पर किले और बैरिकेड बनाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि दीप सिद्ध से भाजपा से कोई संबंध नहीं है। उसे छोड़ा नहीं जाएगा,उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। कहा कि किसानों के लिए कोई बैरिकेड और कांटे नहीं लगाए गए हैं, बल्कि ट्रैक्टर ना आए इसीलिए दिल्ली की सीमाओं पर यह सब किया गया है। कहा कि सरकार किसानों से वार्ता करने के लिए तैयार है। लेकिन किसानों को अपनी हठधर्मिता छोड़नी पड़ेगी और खुले मन से बात करने के लिए तैयार होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि बजट बहुत अच्छा है। प्रधानमंत्री और केंद्रीय वित्त मंत्री ने आत्मनिर्भर भारत का पैकेज दिया है। उन्होंने कहा कि एक युवक को भाजपा का नेता बता कर फोटो वायरल की जा रही है। कहा कि फोटो तो कोई भी किसी के साथ खिंचा सकता है। केंद्रीय बजट में उत्तराखंड की अनदेखी को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए शाहनवाज हुसैन ने कहा कि देवभूमि को कभी भी इग्नोर नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि देवभूमि के आशीर्वाद से ही भाजपा की सरकार चल रही है। इस दौरान सांसद प्रतिनिधि ओपी जमदग्नि, जिलाध्यक्ष डॉ जयपाल चैहान, विकास तिवारी और आशु चैधरी आदि शामिल रहे।


Comments